इस साल का मानसून रहेगा सामान्य, 96% होगी बारिश, लहलहाएगी खेती

0
24
IMD Monsoon Forecast 2019

राज एक्‍सप्रेस, नई दिल्ली। चालू मानसून सीजन में सामान्य बारिश का अनुमान है, जो कृषि आधारित अर्थव्यवस्था वाले भारत के किसानों के लिए बेहतर साबित होगा। खेती लहलहाएगी और देश की वित्तीय सेहत भी सुधरेगी। वर्ष 2019 का मानसून (IMD Monsoon Forecast 2019) अल नीनो के प्रभाव के खतरे से बाहर रहेगा। मौसम विभाग ने सोमवार को चालू वर्ष में दक्षिण-पश्चिम मानसून का पहला पूर्वानुमान जारी किया है।

बारिश सामान्य रहने का अनुमान

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव डॉक्टर एम. राजीवन और मौसम विभाग के महानिदेशक डाक्टर केजे रमेश ने कहा कि, मानसून के दौरान जून से सितंबर के तक बारिश लगभग सामान्य रहने का अनुमान है। दीर्घावधि बारिश के औसत का 96% बारिश होने की संभावना है। उन्होंने मानसून पर अल नीनो की आशंका को सिरे से खारिज कर दिया।

अल नीनो की तीब्रता कम रहने के आसार

उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया कि, अल नीनो की स्थितियां कमजोर रहेंगी। मानसून के आखिरी दो महीनों में बहुत अच्छी बारिश का अनुमान है। इस दौरान अल नीनो की तीब्रता के कम रहने के आसार हैं।

मौसम वैज्ञानिकों ने बताया-

जी हां मौसम वैज्ञानिकों ने यह बात बताई है कि, इस बार वर्ष 2019 में मानसून सीजन में बारिश का वितरण बहुत अच्छा रहने वाला है, जो खेती के लिहाज से बहुत ही अच्छा रहेगा। देश की 50 फीसद खेती असिंचित है, जो पूरी तरह बरसात पर आधारित है। देश की अर्थव्यवस्था कृषि की हिस्सेदारी 15 फीसद है।

यह भी पढ़ें: पूर्वोत्तर के कई राज्यों में भीषण तूफान का कहर 3 महिलाओं की मौत

मानसून की बारिश से देश की खेती के प्रभावित होने का सीधा असर अर्थव्यवस्था पर पड़ता है। खरीफ सीजन में प्रमुख फसलें चावल, गन्ना, मक्का, कपास और सोयाबीन की खेती होती है।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image