कोलकाता हिंसा : ममता बनर्जी का BJP पर आरोप- हिंसा भड़काने के लिए बाहर से पैसे और लोगों ला रही है

0
16
Kolkata Violence

राज एक्सप्रेस, कोलकाता। लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें चरण के मतदान से पहले पश्चिम बंगाल की में सियासी घमासान मच गया है। ममता बनर्जी का BJP पर आरोप लगाते हुए कहा कि, अमित शाह के रोड शो के दौरान कोलकाता में हिंसा (Kolkata Violence) भड़काने के लिए बाहर से पैसे और लोगों ला रही है। तृणमूल कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अध्यक्ष पर सांप्रदायिक ध्रुवीकरण का आरोप लगते हुए मंगलवार को कोलकाता में हुई हिंसा तथा बंगाल पुनर्जागरण के, नायक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने के लिए BJP को जिम्मेदार ठहराया है। और उनके रोड शो को आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करार दिया है।

BJP बाहर से पैसे और लोगों ला रही :

इस बीच तृणमूल (TMC) अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी ने मंगलवार को आरोप लगाया कि, हिंसा भड़काने के लिए BJP बाहर से पैसे और लोगों को ला रही है। तृणमूल नेता डेरेक ओ ब्रायन ने बुधवार को, कोलकाता में मंगलवार की हिंसा से सम्बंधित वीडियो दिखाकर दावा किया कि, BJP ने राज्य के बाहर से ‘गुंडों’ को बुलाकर इस हिंसा को अंजाम दिया। उन्होंने कहा कि, जब श्री शाह का रोड शो विद्यासागर कालेज के पास पहुंचा तो छात्रों ने काले झंडे दिखाये जो उनका लोकतांत्रिक अधिकार है। इसके बाद भाजपा के गुंडों ने हिंसा शुरू कर दी और पथराव भी किया तथा बंगाल के नवजागरण के नायक विद्यासागर की प्रतिमा भी तोड़ दी।

ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि, केंद्रीय बलों को लेकर आ रही गाड़ियों के जरिए BJP के उम्मीदवारों को पैसे की सप्लाइ हो रही है। BJP पर बंगाल में हिंसा भड़काने का आरोप लगाते हुए ममता ने कहा, ‘यहां तक कि मामूली BJP नेता जिनके खिलाफ पुलिस में कई केस दर्ज हैं वे 8 ब्लैक कैट कमांडो लेकर घूम रहे हैं और पैसे पहुंचा रहे हैं।’

इतिहास का सबसे दुखद दिन :

उन्होंने कहा कि, यह बंगाल के इतिहास का सबसे दुखद दिन है जब ऐसे व्यक्ति की प्रतिमा क्षतिग्रस्त की गयी जो देश का बड़ा दार्शनिक, शिक्षाविद और राष्ट्रीय प्रतीक है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने बंगला संस्कृति एवं मूल्य पर हमला किया है। श्री शाह और उनके लोगों को क्या मालूम कि विद्यासागर कौन है। वह बंगाल के घर-घर में और वर्णमाला की किताबों में मौजूद है तथा हर बंगाली बचपन से उनको जानते हुए बड़ा हुआ है।

तृणमूल नेता ने कहा कि, श्री शाह और उनकी पार्टी रोज झूठ बोलती है। मंगलवार की हिंसा के बारे में भी वह झूठ बोल रहे हैं। श्री शाह ने तो रवीन्द्र नाथ टैगोर का जन्म स्थान वीरभूमि बता दिया। उनको तो यह भी नहीं पता कि कवि टैगोर कहाँ जन्मे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि, केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल के लोग भी BJP से मिले हैं और मतदान में उनकी मदद कर रहे हैं। उन्होंने अपने आरोप के सबूत में एक तस्वीर भी दिखाई जिसमे एक अर्धसैनिक बल BJP कार्यकर्ताओं और BJP प्रदेश अध्यक्ष के साथ है। उन्होंने कहा कि, वह पहले तीन बार इस बात की शिकायत कर चुके हैं।

संवाददता सम्मेल्लन में मौजूद तृणमूल नेता और राज्यसभा सदस्य मनीष गुप्ता ने आरोप लगाया कि, श्री शाह के रोड शो में पोस्टर और बड़े-बड़े कट आउट निकालने की अनुमति चुनाव आयोग ने क्यों दी और उस शो में धार्मिक नारे लगाये गये। यह तो आदर्श आचार चुनाव संहिता का सरासर उल्लंघन है। उन्होंने चुनाव आयोग के एक उप आयुक्त पर चुनाव में पुलिस के कार्य में हस्तक्षेप करने का भी आरोप लगाया।

यह भी पढ़ें : बंगाल हिंसा के बाद अमित शाह की प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले- CRPF न होती तो मेरा बचना मुश्किल 
5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image