गृह मंत्री अमित शाह ने Cyclone Vayu से निपटने के लिए अफसरों को दिए निर्देश

0
54
Cyclone Vayu Amit Shah

राज एक्सप्रेस, नई दिल्ली। गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को हाई लेवल मीटिंग की अध्यक्षता की। उन्होंने चक्रवाती तूफान ‘वायु’ (Cyclone Vayu Amit Shah) से निपटने के लिए हो रही तैयारियों की समीक्षा की। इसके लिए उन्होंने राज्य, केंद्र सरकार के मंत्रियों और एजेंसियों को सभी स्थितियों से निपटने के लिए निर्देश दिए। चक्रवाती तूफान ‘वायु’ (Cyclone Vayu) से उत्पन्न होने वाली स्थिति से निपटने के लिए तैयारी पूरी होनी चाहिए।

गृहमंत्री ने सीनियर अधिकारी को सभी प्रकार के संभव उपाय करने के निर्देश दिए। ‘वायु’ से प्रभावित होने वाले एरिया से सभी लोगों को खाली कर दिया जाए। उन्होंने कंट्रोल रूम को 24 घंटे काम करने के लिए निर्देश दिए। भारतीय तटरक्षक बल, नौसेना, थल सेना, वायु सेना के सभी यूनिटों को तैनाती के लिए निर्देश दिया जाए। विमान और हेलीकॉप्टर को निगरानी के लिए लगाया जाए। किसी भी प्रकार से जन की हानि न हो। भयावह स्थिति से निपटने के लिए राहत बचाव कार्य को जारी किया जाए।

Cyclone Vayu से निपटने के लिए एनडीआरएफ के 26 दल तैनात:

अरब सागर में उठे चक्रवात ‘वायु’ से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के 26 दलों को तैनात किया गया है तथा सेना से तैयार रहने के लिए कहा गया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक उच्च स्तरीय बैठक में संबंधित राज्यों और केंद्रीय मंत्रालयों/एजेंसियों की तैयारियों की मंगलवार को समीक्षा की। इसमें बताया गया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने नावों, पेड़ काटने वालों, दूरसंचार उपकरणों आदि से सुसज्जित 26 दलों को तैनात कर दिया है तथा गुजरात सरकार के अनुरोध पर 10 और दलों को तैयार किया है।

भारतीय तटरक्षक बल, नौसेना, थल सेना और वायु सेना की इकाइयों को भी तैयार रहने को कहा गया है। विमानों तथा हेलिकॉप्टरों से स्थिति की हवाई निगरानी की जा रही है। मौसम विज्ञान विभाग ने बताया है कि, चक्रवात ‘वायु’ के 13 जून की सुबह 110-120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पोरबंदर और महुवा के बीच वेरावल तथा दीव क्षेत्र के आसपास गुजरात तट पहुँचने की उम्मीद है।

गुजरात के तटीय जिलों में भारी बारिश की संभावना :

(Cyclone Vayu) से गुजरात के तटीय जिलों में भारी बारिश और समुद्र में एक से डेढ़ मीटर ऊंचा ज्वार-भाटा आने की संभावना है। कच्छ, द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, गिर सोमनाथ, अमरेली और भावनगर जिले के निचले तटीय क्षेत्रों में बाढ़ की भी आशंका है। श्री शाह ने वरिष्ठ अधिकारियों को लोगों को सुरक्षित रूप से बाहर निकालने और बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य, पेयजल आदि आवश्यक सेवाओं के रखरखाव सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने आपात स्थिति से निपटने के लिये 24 घंटे नियंत्रण कक्ष के कार्य करने का भी निर्देश दिया। गृह मंत्रालय राज्य सरकारों/केंद्रशासित राज्यों और संबंधित केंद्रीय एजेंसियों के साथ निरंतर संपर्क में है। बैठक में केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा और पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव डॉ. एम. राजीवन सहित भारतीय मौसम विज्ञान विभाग और गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

गुजरात में वेरावल तट के निकट हो सकता है तूफान का ‘लैंडफॉल’:

अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान वायु के की सुबह गुजरात के गिर सोमनाथ जिले के वेरावल तट के निकट जमीन से टकराने की संभावना है। मुख्य सचिव जेएन सिंह ने बताया कि, मौसम विभाग से मिली नवीनतम सूचना के अनुसार तूफान वायु 13 जून को सुबह छह से सात बजे के बीच वेरावल और महुवा के बीच अथवा अधिक संभावना के तहत वेरावल के निकट जमीन से टकराएगा। यह इतना तीव्र नहीं होगा कि लोगों का स्थानांतरण करना पड़े। वैसे अगर इसकी तीव्रता बढ़ी तो इस बारे में निर्णय लिया जाएगा।

राज्य प्रशासन किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह सक्षम और तैयार है। मुख्यमंत्री ने मंगलवार सुबह, दोपहर समीक्षा की। एनडीआरएफ की टीमें, सेना, नौसेना और तटरक्षक दलों के साथ समन्वय कर काम करेंगी। हाल में बंगाल की खाड़ी में आये तूफान फानी से निपटने के ओडिशा सरकार के सराहनीय प्रयास के मद्देनजर वह वहां के मुख्य सचिव से भी बात करेंगे। और देखेंगे कि जरूरत पड़ने पर उनके अनुभव का लाभ वायु के मामले में कैसे लिया जा सके।

तूफान ‘वायु’ 24 घंटों में ले सकता है भीषण स्वरूप:

अरब सागर के दक्षिण-पूर्वी और पूर्वी-मध्य क्षेत्र के ऊपर बन रहा चक्रवाती तूफान ‘वायु’ 11 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-उत्तर पश्चिम क्षेत्र की ओर बढ़ रहा है। भारतीय मौसम विभाग ने मंगलवार को एक बुलेटिन जारी कर यह जानकारी दी। मौसम विभाग ने बताया कि, तूफान मंगलवार को तड़के 2 बजकर 30 मिनट पर अरब सागर के पूर्वी-मध्य हिस्से के ऊपर पहुंच गया। तूफान ‘वायु’ अभी लक्षद्वीप से 410 किलोमीटर, मुंबई से 600 किलोमीटर तथा गुजरात से 740 किलोमीटर की दूरी पर बना हुआ है। तूफान के अगले 24 घंटों के दौरान भीषण चक्रवाती तूफान का रूप लेने की आशंका है। तूफान ‘वायु’ के 13 जून की सुबह तक गुजरात के पोरबंदर और महुआ तट तक पहुंचने की आशंका है। ‘वायु’ के कारण 110-120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं।

यह भी पढ़ें : केंद्र की मोदी सरकार का एक्शन, IT विभाग के 12 बड़े अफसरों को किया रिटायर

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image