अमेरिका में भारतीय मूल के अरबपति कारोबारी को धोखाधड़ी के आरोप में पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
28

वॉशिंगटन। अमेरिका में दवा का कारोबार करने वाले भारतीय मूल के अरबपति जॉन नाथ कपूर (74) को एफबीआई ने उनके एरिजोना स्थित घर से गिरफ्तार किया है। जॉन पर अमेरिका में एक देशव्यापी साजिश का नेतृत्व करने का आरोप लगाया गया है। जॉन पर आरोप है कि उन्होंने डॉक्टरों को रिश्वत देकर मरीजों को शक्तिशाली ओपिओइड देने के लिए दबाव बनाया व बीमा कम्पनियों को धोखा दिया। साजिश रचने और लाभ कमाने के लिए बीमा कंपनियों को धोखा दिया। साथ ही कपूर पर धमकाने, साजिश रचने और धोखाधड़ी से संबंधित धाराएं भी लगाई गई हैं। ओपीओइड के कारण पिछले साल 20,000 से ज्यादा अमेरिकियों की मौत हुई है।
अटॉर्नी जनरल जेफ सेशंस ने बताया है कि कृत्रिम ओपीओइड के कारण पिछले साल 20,000 से ज्यादा अमेरिकियों की मौत हो चुकी है। वहीं जरूरत से ज्यादा मात्रा में लाखों लोग इसके आदी हो गए हैं। इसके बावजूद डॉक्टर नशीले पदार्थों का लाभ लेने के बजाय, इन्हें बनाने वालों को फायदा पहुंचाने की कोशिशों में जुटे हुए हैं। न्याय विभाग इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने कहा है कि इस महामारी में जिन्होंने भी अवैध भूमिका निभाई हैं उनमें से हर एक पर जवाबदेही तय करेंगे। फिर वह दुकानदार, विक्रेता या कॉर्पोरेट कार्यकारी ही क्यों न हो।
बीमा कंपनियों के साथ धोखाधड़ी का भी आरोप
अभियोग में कपूर और उनकी कंपनी के छह अन्य पूर्व एक्जीक्यूटिव्स पर यह भी आरोप लगाया गया है कि इन्होंने हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों के साथ धोखाधड़ी की। ऐसे मरीज जिन्हें कैंसर नहीं है बीमा कंपनियां उन्हें ऐसी ओपीओइड जैसी दवाओं के भुगतान मंजूर नहीं करती है। लेकिन आरोपियों ने षड्यंत्र रचकर बीमा कंपनियों के साथ धोखाधड़ी की।
1960 में गए थे अमेरिका, अमृतसर में हुआ था जन्म
अमृतसर में जन्मे उद्यमी जॉन नाथ कपूर की छवि लोकहित के कार्य करने वाले एक परोपकारी शख्‍स की है। वह 1960 में भारत से अमेरिका गए थे। तब से वह वहीं पर कारोबार कर रहे हैं। वह फार्मा कंपनी इन्सिस थेरेपैटिक्स के बोर्ड में सदस्य हैं। वह 1990 में कंपनी की स्थापना से लेकर बोर्ड में सदस्य हैं। वह 1990 से 2004 तक कंपनी के अध्यक्ष रहे। जबकि जून 2006 से जनवरी 2017 के बीच कार्यकारी अध्यक्ष रहे।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here