सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आज महाकाल मंदिर में ज्योतिर्लिंग पर कपड़े से ढककर की गई भस्म आरती

0
65

उज्जैन। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आज (शनिवार) को उज्जैन के महाकाल मंदिर में नए नियम के तहत पूजा की गई है। आज ज्योतिर्लिंग पर कपड़ा ढंक कर भस्म आरती की गई। सुबह 4 बजे पूजा के पहले शिवलिंग को पूरी तरह कपड़े से ढंका गया। इतना ही नहींं, अभिषेक के वक्त RO के पानी का इस्तेमाल किया गया।

बता दें कि शुक्रवार 27 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने महाकाल ज्योतिर्लिंग के जलाभिषेक के लिए नए नियमों को मंजूरी दी। शिवलिंग का आकार छोटा (क्षरण) होने के बाद मंदिर समिति के 8 सुझावों को सुप्रीम कोर्ट ने मंजूरी दी, कोर्ट ने कहा था कि आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया, जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया और याचिकाकर्ता 15 दिन के अंदर इस पर अपने सुझाव या आपत्ति दर्ज करवा सकते हैं। अगली सुनवाई 30 नवंबर को होगी। नई व्यवस्था को अमल में लाने के लिए महाकाल मंदिर प्रबंध समिति ने शुक्रवार रात ही पुजारियों के लिए आदेश जारी कर दिए थे।

महाकाल ज्योतिर्लिंग के जलाभिषेक के लिए ये हैं नए नियम

* श्रद्धालु 500 मिलीलिटर से ज्यादा जल नहीं चढ़ाएंगे।
* महाकाल पर सिर्फ RO का जल ही चढ़ाया जाएगा।
* भस्म आरती के दौरान शिवलिंग को सूखे सूती कपड़े से पूरी तरह ढका जाएगा।
* अभिषेक के लिए हर श्रद्धालु को निश्चित मात्रा में दूध या पंचामृत चढ़ाने की इजाज़त होगी।
* शिवलिंग पर चीनी पाउडर लगाने की इजाज़त नहीं होगी, बल्कि खांडसारी के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जाएगा।
* नमी से बचाने के लिए ड्रायर व पंखे लगाए जाएंगे और बेलपत्र व फूल-पत्ती शिवलिंग के ऊपरी भाग में चढ़ेंगे, ताकि शिवलिंग के पत्थर को प्राकृतिक सांस लेने में कोई दिक्कत न हो।
* शाम 5 बजे के बाद अभिषेक पूरा होने पर शिवलिंग की पूरी सफाई होगी और इसके बाद सिर्फ सूखी पूजा होगी।
* अभी तक सीवर के लिए चल रही तकनीक आगे भी चलती रहेगी, क्योंकि सीवर ट्रीटमेंट प्लांट बनने में एक साल लगेगा।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here