टीम इंडिया की क्रिकेटर हरमनप्रीत से रेलवे ने मांगे 27 लाख रुपये

0
30
टीम इंडिया की क्रिकेटर हरमनप्रीत से रेलवे ने मांगे 27 लाख रुपये

नई दिल्ली। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की उप कप्तान हरमनप्रीत कौर पर रेलवे ने 27 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। पंजाब सरकार ने 5 साल से पहले नौकरी नहीं छोड़ने का करार किया था। इस करार को तोड़ने पर रेलवे ने यह जुर्माना लगाया। जिन्होंने पिछले साल ICC महिला विश्वकप में भारतीय टीम को फाइनल में पहुंचने में अहम भूमिका निभाई, अब काम के मोर्चे पर परेशान हो रही हैं। कौर की प्रतिभा को देखते हुए पंजाब पुलिस ने पिछले साल जुलाई में उन्हें डीएसपी के पद की पेशकश की थी। हरमनप्रीत रेलवे की नौकरी छोड़ पंजाब पुलिस को ज्वॉइन करना चाहती हैं, लेकिन वेस्टर्न रेलवे उन्हें इसकी इजाजत नहीं दे रहा है।

दरअसल महिला विश्व कप में उनके शानदार प्रदर्शन को देखते हुए पंजाब पुलिस ने पिछले साल उन्हें डीएसपी के पद की पेशकश थी जिसे वह कबूल भी करना चाहती हैं। लेकिन हरमन और पुलिस की वर्दी के बीच एक पेंच फंस गया है। यहां बताने योग्य है कि भारतीय महिला क्रिकेट टीम की तूफानी बल्लेबाज हरमनप्रीत का जन्म 8 मार्च, 1989 को मोगा शहर में हुआ था। हरमनप्रीत को बचपन से ही क्रिकेट में रुचि थी। 2014 में वह भारतीय रेलवे में नौकरी करने मुंबई चली गई थी। पहला वनडे 2009 में खेला। 2013 में इंग्लैंड के विरुद्ध वर्ल्ड कप मैच में शतक जड़कर उन्होंने महिला क्रिकेट में अपनी छाप छोड़ी। मध्यक्रम की विस्फोटक बल्लेबाज़ हरमनप्रीत को एक साथ तीन-तीन बिग बैश लीग की टीमें साइन करना चाहती थीं। हालांकि उन्होंने सिडनी थंडर्स को चुना।

थंडर्स के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन करने वाली वो पहली भारतीय (महिला या पुरुष) क्रिकेटर बनीं। हरमनप्रीत का पक्ष लेते हुए अमरिंदर सिंह ने पीयूष गोयल को लेटर के जरिए लिखा, कि ”वो किसी प्राइवेट जॉब के लिए रेलवे की नौकरी नहीं छोड़ रही हैं। वो अपने भविष्य को और बेहतर बनाने के लिए इस नौकरी को छोड़ना चाहती हैं, उनका इस्तीफा स्वीकार किया जाए”। वहीं इस मामले में हरमनप्रीत ने पिता का कहना है कि रेलवे की जिद के कारण हरमन पंजाब पुलिस ज्वाइन नहीं कर पा रही है। हरमनप्रीत कौर करीब 3 साल पहले वैस्ट्रन रेलवे में बतौर ऑफिस सुपरिटेंडेंट तैनात हुई थी। क्रिकेट विश्व कप के दौरान भी वह रेलवे की अधिकारी ही थी।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here