विराट के बचपने और युवाओं पर उसके असर से चिंतित हूं: राहुल द्रविड़

0
28

नई दिल्ली। पूर्व कप्तान और जूनियर क्रिकेट टीम के कोच राहुल द्रविड़ ने कहा है कि वह टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के आक्रामक व्यवहार को देखकर कई बार चिंतित हो जाते हैं क्योंकि इसका युवाओं पर भी असर पड़ता है। पूर्व कप्तान ने कहा कि वह विराट के आक्रामक शब्दों को सुनकर वह थोड़ा घबरा जाते हैं क्योंकि इससे टीम के बाकी युवा खिलाड़ियों पर भी असर हो सकता है और वह भी उसी तरह का व्यवहार अपना सकते हैं। द्रविड़ ने कहा मैं विराट की आक्रामकता को देखकर कई बार थोड़ा घबरा जाता हूं लेकिन यह भी सच है कि यदि इस तरह से वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पाते हैं तो उन्हें इससे कोई आपत्ति नहीं है। द्रविड़ ने कहा मेरा मानना है कि खेल अभी भी प्रदर्शन पर निर्भर करता है इसलिये विराट जैसे खिलाड़ी को इससे नहीं रोका जा सकता है क्योंकि यह आक्रामकता उन्हें अपना सर्वश्रेष्ठ करने में मदद करती है। यह उनकी शख्सियत है। उन्होंने कहा कई बार लोग मुझसे कहते हैं मैंने ऐसा क्यों नहीं किया। लेकिन यदि मैं अपनी बाहों पर टैटू बनवा लेता तो मुझे नहीं लगता इससे मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पाता। यदि मैं ऐसा करता तो वह मेरी शख्सियत नहीं होती। मैं खुद से सच नहीं बोलता। अंडर-19 क्रिकेट टीम के कोच द्रविड़ ने कहा कि विराट की आक्रामकता उन्होंने खासकर आस्ट्रेलिया के साथ सीरीज़ से पूर्व अधिक देखी है। उन्होंने कहा आस्ट्रेलिया के साथ सीरीज़ से पूर्व विराट ज्यादा आक्रामक हो जाते हैं और जब मैं अखबार में उनके बयानों को पढ़ता हूं तो घबरा जाता हूं। लेकिन मुझे लगता है कि उन्हें इस तरह की प्रतिस्पर्धा पसंद है। लेकिन मैं ऐसा नहीं कर सकता।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here