पार्टी विधायक अदिति का सहारा बनी प्रियंका गांधी, खतरनाक हमले की हुई थी शिकार

0
20
Priyanka Gandhi Aditi Singh

राज एक्सप्रेस| कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को रायबरेली में हमले का शिकार हुई पार्टी विधायक अदिती सिंह (Priyanka Gandhi Aditi Singh) से मुलाकात की और कहा कि, अन्याय के खिलाफ उनका संघर्ष जारी रहेगा|

प्रियंका गांधी ने रायबरेली में पार्टी मुख्यालय में अदिती और पार्टी के जिला पंचायत सदस्यों से मुलाकात की| उन्होंने कहा कि, वह रायबरेली के लोगों के साथ है और जरुरत के हिसाब से काम करेंगी| जरुरत हुई तो रायबरेली जिला प्रशासन के पक्षपातपूर्ण रवैये के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने पर कानूनी राय भी लेंगी और जरुरत होने पर चुनाव आयोग का दरवाजा भी खटखटाएगी| बाद में उन्होंने गंभीर रुप से घायल पंचायत सदस्य राजेश अवस्थी से फोन पर बात की| राजेश अवस्थी पर हमला किया गया था, जिसमें वह बुरी तरह से घायल हुए थे| कांग्रेस महासचिव ने कहा कि, गैर कानूनी कार्यों को रोकने के लिए वह हरसंभव प्रयास करेगी|

हमले में राज्य सरकार या जिला प्रशासन का कोई हाथ नहीं

इस बीच उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने रायबरेली के हमले में राज्य सरकार या जिला प्रशासन की भूमिका से इंकार किया है| उन्होंने कहा कि, हमले की घटना की जांच मजिस्ट्रेट से कराने के आदेश दे दिए गये है और दोषियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की पांच टीमें गठित की गई है| इस घटना को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई है| उन्होंने कहा कि, “जिला पंचायत अध्यक्ष पद” को लेकर कांग्रेस के ही दो गुट है, जिनके कारण यह घटना हुई है|

उन्होंने बताया कि, कांग्रेस के आग्रह पर ही पर्याप्त संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया था और विधायक को अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान की गई थी| इसके बाद प्रशासन पर भेदभाव पूर्ण काम करने का आरोप कैसे लगाया जा सकता है|

दिनेश प्रताप सिंह ने सफाई में कहा

भाजपा के रायबरेली लोकसभा सीट से उम्मीदवार और विधान परिषद सदस्य दिनेश प्रताप सिंह ने भी बाद में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि, कल हुए हमले की घटना से उनका कोई लेना-देना नहीं है और वह पुरी तरह से निर्दोष है|

उन्होंने कहा कि, उनपर गलत आरोप लगाये जा रहे है| कांग्रेस के साथ उनका राजनीति मतभेद हो सकता है, लेकिन अदिती पर हमले की साजिश पर रायबरेली में कोई विश्वास नहीं कर सकता है| अदिती मेरी बेटी जैसी है| मैं किसी भी जांच के लिए तैयार हूं|

अदिति सिंह के मुताबिक, जब वो लखनऊ से रायबरेली आ रही थीं, तो करीब 40-50 लोगों ने उनका पीछा किया था| इसी दौरान रास्ते में उनपर हमला कर दिया गया था| इस घटना के बाद दिनेश सिंह, अवधेश सिंह और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई, लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है|

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image