पहली बार IPL स्पॉट फिक्सिंग पर धोनी ने तोड़ी चुप्पी, मयप्पन और श्रीनिवासन के बारे में दिया बड़ा बयान

0
23

भारतीय क्रिकेट में स्पॉट फिक्सिंग का मामला काफी विवादों में रहा है। आईपीएल में फिक्सिंग के इस खेल में कई लोगों की भूमिका पर सवाल उठाया गया था। इतना ही नहीं फिक्सिंग के इस खेल में कई खिलाड़ी पकड़े भी गए थे। श्रीसंत का क्रिकेट करियर स्पॉट फिक्सिंग के चलते अब तबाही की ओर बढ़ चुका है। श्रीसंत पर स्पॉट फिक्सिंग मामले में भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने आजीवन प्रतिबंध लगा दिया है। इस मामले पर टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेद्र सिंह धोनी को लेकर भी काफी विवाद देखने को मिला था। धोनी का क्रिकेट करियर विवाद रहित रहा है लेकिन इस मामले में उन पर भी सवाल उठा था।

2013 के आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग का खुलासा होने के बाद क्रिकेट की दुनिया में हड़कम्प मच गया था। आईपीएल की सबसे मजबूत टीम चेन्नई सुपरकिंग्स और इसके डायरेक्टर गुरुनाथ मयप्पन को लेकर भी कई खुलासे हुए थे। मयप्पन पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष और चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक एन श्रीनिवासन के दामाद हैं। इतना ही नहीं धोनी और एन श्रीनिवासन के रिश्तों को लेकर भी सवाल उठाया जा चुका है। हालांकि इस पूरे विवाद में माही ने कभी भी कुछ नहीं बोला है। कुछ मीडिया रिपोर्ट में दावा किया है कि माही ने स्पॉट फिक्सिंग की जांच के लिए बनी कमिटी के सामने गुरुनाथ मयप्पन को क्रिकेट फैन बताया था।

अब इस पूरे मामले में माही ने पत्रकार राजदीप सरदेसाई की किताब में कहा है कि, “ये पूरी तरह से झूठ है कि मैंने जांच कमिटी को कहा था कि मयप्पन सिर्फ एक क्रिकेट फैन (क्रिकेट एन्थूजिऐस्ट) हैं। मैंने सिर्फ इतना कहा था कि उनका टीम के ऑन फील्ड क्रिकेट निर्णयों से कुछ लेनादेना नहीं है। मैं तो एन्थूजिऐस्ट शब्द को ठीक से बोल भी नहीं सकता।” धोनी ने साथ ही श्रीनिवासन के बारे में कहा, “कि मुझे सच में इस बात से कई फर्क नहीं पड़ता कि लोग क्या कहते हैं।” श्रीनिवास ऐसे व्यक्ति रहे हैं जिसने हमेशा क्रिकेटरों की मदद की है। इतना सबकुछ होने के बावजूद माही और श्रीनिवासन के बीच अच्छे रिश्ते हैं। अभी हाल में माही ने श्रीनिवासन से मुलाकात भी की थी। कुल मिलाकर भारतीय क्रिकेट में माही सबसे बड़े खिलाडिय़ों में एक है। उनका करियर भी बेहद शानदार रहा है। ऐसे में माही पर किसी तरह का कोई सवाल नहीं उठाया जा सकता है।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here