कानपुर। भारत ने कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेले गए तीसरे एकदिवसीय मैच में न्यूजीलैंड को 6 रनों से हराकर सीरीज जीत ली। विराट अपने 202वें वनडे और 194 पारियों में 9000 रन पूरे करने की उपलब्धि पर पहुंचे हैं जबकि डीविलियर्स ने 9000 रन पूरे करने के लिए 214 मैच और 205 पारियां ली थीं। विराट के अब 202 मैचों में 9030 रन हो गये हैं। भारतीयों में यह रिकार्ड पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली के नाम था जिन्होंने 9000 रन पूरे करने के लिये 236 मैच और 228 पारियां खेली थीं। एकदिवसीय क्रिकेट में सर्वाधिक रनों और शतकों का विश्व रिकार्ड अपने नाम रखने वाले सचिन तेंदुलकर ने यह उपलब्धि 242 मैचों और 235 पारियों में हासिल की थी।

एकदिवसीय क्रिकेट में लगातार नए रिकार्ड कायम करते जा रहे विराट वनडे में 9000 रन पूरे करने वाले छठे भारतीय बल्लेबाज और ओवरऑल 19वें बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे आगे मोहम्मद अजहरूद्दीन 9378 रन, महेंद्र सिंह धोनी 9627 रन, राहुल द्रविड़ 10768 रन, सौरभ गांगुली 11221 रन और सचिन तेंदुलकर 18426 हैं। विराट ने इस सीरीज़ के पहले वनडे में अपना 31वां शतक जड़ा था और सर्वाधिक वनडे शतक जमाने के मामले में वह आस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग को पीछे छोड़कर दूसरे नंबर पर पहुंच गये थे। विराट ने तीसरे मैच में अपना 32वां शतक भी जड़ दिया जो 2017 में उनका छठा शतक है। एकदिवसीय क्रिकेट में सर्वाधिक शतक के मामले में सचिन 49 शतक के साथ सबसे आगे हैं।

रोहित (147) और विराट (113) ने खेली शतकीय पारीडरबन के रिकार्ड पर नहीं सीरीज़ जीतने पर नज़र : रोहित शर्मा
रोहित और विराट ने शानदार शतक ठोके। मैन ऑफ द मैच रोहित ने 138 गेंदों पर 147 रन की पारी में 18 चौके और दो छक्के लगाए जबकि कप्तान विराट ने 106 गेंदों पर 113 रन में नौ चौके और एक छक्का लगाया। रोहित का 171 वनडे में यह 15वां शतक था। कप्तान विराट ने अपना 32वां शतक जड़ा और अपनी पारी के दौरान सबसे तेज 9000 रन पूरे करने की उपलब्धि भी हासिल कर ली।  रोहित और शिखर धवन ने आक्रामक शुरूआत की मगर इस बीच शिखर (14) पारी के सातवें ओवर में तेज गेंदबाज टिम साउदी की बाहर जाती गेंद को उड़ाने के प्रयास में मिड विकेट पर खड़े केन विलियम्स को कैच थमा बैठे।

इस समय भारत के स्कोरबोर्ड पर महज 29 रन आये थे। बाद में क्रीज पर आए विराट ने एक छोर पर आक्रामक रूख अख्तियार किये रोहित का भरपूर साथ दिया और दोनों बल्लेबाजों ने मेहमान गेंदबाजों की बखिया उधेड़ते हुये दर्शक दीर्घा को गरमा दिया। दोनों बल्लेबाजों ने 19वें ओवर में टीम का स्कोर 100 पर पहुंचाया। कीवी कप्तान ने खतरनाक साबित हो रही इस जोड़ी को तोड़ने के लिए गेंदबाजी में तेजी से बदलाव किये मगर भारतीय जाबांजों के आग बरसाते बल्लों ने केन के अरमानों का राख कर दिया।

डेथ ओवर में बुमराह की बेहतरीन गेंदबाजी
मैच एक समय न्यूजीलैंड के हाथ में जाता दिखाई दे रहा था लेकिन अंतिम ओवरों में बुमराह और भुवनेश्वर कुमार ने बेहतरीन वापसी की। भुवनेश्वर ने 47वें ओवर में हेनरी निकोल्स को यॉर्कर पर बोल्ड किया। भुवनेश्वर को उनके शुरुआती ओवरों में काफी मार पड़ी थी लेकिन इस विकेट से उन्होंने भारत के लिए उम्मीदें जगा दीं। 48 वें ओवर में भारत को सबसे बड़ी सफलता हाथ लगी। 65 रन बना चुके टॉम लाथम रन लेने के लिए भागे। विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने थ्रो बुमराह की तरफ फेंका और बुमराह ने सीधे थ्रो से विकेट बिखेर दिए।

यह रन आउट मैच का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ। न्यूजीलैंड को आखिरी ओवर में जीत के लिए 15 रन चाहिए थे और गेंद बुमराह के हाथों में थी। उन्होंने चौथी गेंद पर मिशेल सेंटनर को आउट किया। 50 ओवर समाप्त होने पर भारतीय खिलाड़ी जीत की ख़ुशी में उछल पड़े। वाकई यह एक रोमांचक और जबरदस्त जीत थी। न्यूजीलैंड के लिए कोलिन मुनरो ने 75, कप्तान केन विलियम्सन ने 64, रोस टेलर ने 39, लाथम ने 65 और निकोल्स ने 37 रन बनाये। बुमराह के अलावा लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने 47 रन पर दो विकेट लेकर भारत की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। भुवनेश्वर ने 92 रन लुटाकर एक विकेट लिया।

दोनों टीमें
भारत: विराट कोहली (कप्‍तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या, एमएस धोनी, केदार जाधव, अक्षर पटेल, भुवनेश्‍वर पटेल, जसप्रीत बुमराह और युजवेंद्र चहल।

न्‍यूजीलैंड: केन विलियमसन (कप्‍तान), मार्टिन गुप्टिल, कोलिन मुनरो, रॉस टेलर, टॉम लाथम, हेनरी निकोलस, कोलिन डि ग्रैंडहोम, मिचेल सेंटनर, एडम मिल्‍ने, टिम साउदी, ट्रेंट बोल्‍ट।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here