FIFA Under 17 World Cup: विश्वकप को मिलेगा आज नया चैंपियन

0
39

कोलकाता। यूरोप की दो टीमें इंग्लैंड और स्पेन के बीच कल यहां होने वाले FIFA Under 17 World Cup के फाइनल में बेहद दिलचस्प मुकाबला होने की संभावना है। यह पहला अवसर है जबकि यूरोप की दो टीमें फाइनल में एक दूसरे से भिड़ेंगी। इस दौरान टूर्नामेंट में स्टेडियम में पहुंचने वाले दर्शकों की संख्या का नया रिकाॅर्ड बनना भी तय है। सॉल्टलेक स्टेडियम में इंग्लैड और स्पेन के बीच रात आठ बजे होगा खिताबी मुकाबला। भारत की मेजबानी में पहली बार आयोजित हुये FIFA Under 17 World Cup टूर्नामेंट का रविवार को यहां सॉल्ट लेक स्टेडियम में तीन बार के उपविजेता स्पेन और पहली बार के फाइनलिस्ट इंग्लैंड के बीच खिताबी मुकाबले के साथ समापन होगा और दुनिया को एक नया चैंपियन मिल जाएगा। जीत का ताज किसी के भी सिर सजे लेकिन पहली बार अपनी धरती पर FIFA Under 17 World Cup को आयोजित कर फुटबाल के मानचित्र पर भारत अपनी उपस्थिति दर्ज करा जरूर इस खेल का विजेता बन गया है। टूर्नामेंट के सफल आयोजन के बाद अब अंतरराष्ट्रीय फुटबाल महासंघ ने भी भारत की ताकत को समझा है जो भारतीय फुटबाल के लिये सबसे बड़ी जीत है।

हालांकि इस बीच कोलकाता की जमीन से दुनिया को एक नया Under 17 World चैंपियन मिलना तो तय है। फुटबाल के पावरहाउस और तीन बार के चैंपियन ब्राजील को हराकर इंग्लैंड टीम पहली बार विश्वकप के फाइनल में पहुंची है तो वहीं स्पेन अब तक तीन बार खिताबी मुकाबले में पहुंचकर खिताब से चूक गया है और चौथी बार टूर्नामेंट में फाइनल की प्रेत बाधा तोड़ने उतरेगा।

इंग्लैंड का आखिरी बार टूर्नामेंट में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन क्वार्टरफाइनल तक का सफर रहा था जबकि स्पेन 1991 में घाना, 2003 में ब्राजील और 2007 में नाइजीरिया में हुये विश्वकप का उपविजेता रहा है। इंग्लैंड ने सेमीफाइनल में ब्राजील को 3-1 से चौंकाते हुये जबकि स्पेन ने माली को 3-1 से पराजित कर फाइनल में जगह बनाई है। भारत एक बड़ा देश है, जहां यात्रा काफी थका देने वाली होती है। इंग्लैंड के लिए कोलकाता घरेलू मैदान जैसा होगा, क्योंकि इस टीम ने गोवा में हुए क्वार्टर फाइनल के सिवा अपने सभी मुकाबले कोलकाता में ही खेले हैं। इंग्लैंड के ब्रीवस्टर और स्पेन के रुइज बेहद खतरनाक हैं। मगर दोनों की गोल करने की क्षमता के बावजूद हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि यह एक टीम गेम है और ये दोनों सिर्फ अपनी भूमिकाएं ही निभा सकते हैं।

कोलकाता के दर्शकों का ब्राजील और माली के बीच तीसरे स्थान के मैच के लिए भी बड़ी संख्या में पहुंचने की उम्मीद है और ऐसे में इसके सर्वाधिक दर्शकों वाला फीफा अंडर-17 या अंडर-20 टूर्नामेंट बनना तय है। कोलंबिया में 2011 में खेले गए फीफा अंडर-20 विश्व कप टूर्नामेंट में रिकार्ड 13,09,929 दर्शक स्टेडियम में पहुंचे थे और यहां उसका रिकार्ड टूटने वाला है। भारत में खेले जा रहे इस टूर्नामेंट में सर्वाधिक गोल का नया रिकार्ड भी बन सकता है।

टीमें:
इंग्लैंड: कर्टिस एंडरसन, जोसेफ बर्सिक, विलियम क्रेलीन, टिमोथी इयोमा, जोएल लााटिबेयुडिएरे, मार्क ग्यूइही, जोनाथन पेंजो, लुइस गिब्सन, स्टीवन सैसेगन, मोर्गन गिब्स व्हाइट, टाशन ओकले बूथ, कानर गालाघेर, एंजेल गोम्स, न्या किर्बी, जॉर्ज मैकइच्रान, कालम हडसन ओडोइ, फिलिप फोडेन, इमिल स्मिथ रोवे, रिहान ब्रेवस्टर, डैनी लोडर।

स्पेन: अल्वारो फर्नांडेज, मातेयु जूएम, जुआन मिरांडा, ह्यूगो गुइलमोन, विक्टर चस्ट, एंटोनियो ब्लांको, फेरान टोरेस, मोहम्मद मोख्लिस, अबेल रुइज, सर्जियो गोमेज, नाको डियाज, प्रेडो रुइज, मार्क विडाल, अल्वारो गार्सिया, एरिक गार्सिया, डिएगो पैम्पिन, जोस लारा, सीजर जेलाबर्ट, कार्लोस बेइतिया, विक्टर पेरेया, अल्फोंसो पास्टोर।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here