कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम जम्मू-कश्मीर को ‘ज्यादा स्वायत्तता’ देने के बयान पर घिरे

0
53

राजकोट। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम (P.Chidambaram) ने जम्मू-कश्मीर को “ज्यादा स्वायत्तता” देने के बयान से खुद को अलग कर लिया है और कहा कि यह एक व्यक्ति की राय हो सकती है, पार्टी की राय नहीं है।

आपको बता दें कि चिंदबरम ने शनिवार को एक बार फिर जम्मू-कश्मीर को अधिक स्वायत्तता देने की हिमायत की, जिसकी बीजेपी ने तीखी आलोचना की है। कांग्रेस के प्रमुख प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने दिल्ली में संवाददाताओं से कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और हमेशा यह निर्विवाद रूप से बना रहेगा। साथ ही, उन्होंने चिदंबरम की टिप्पणी पर कहा कि किसी व्यक्ति का विचार जरुरी नहीं कि कांग्रेस का भी विचार हो।

बता दें कि मोदी सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर में वार्ता के रूप में दिनेश्वर शर्मा की नियुक्ति को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चिदंबरम ने मुद्दे से ध्यान भटकाने वाला कदम बताया था। उन्होंने कहा, ‘सरकार ने इंटेलिजेंस ब्यूरो के पूर्व चीफ दिनेश्वर शर्मा की जम्मू-कश्मीर में वार्ताकार के रूप में नियुक्ति जरूर की है, लेकिन राज्य को लेकर उसकी नीति में कोई भी परिवर्तन नहीं आया है। सरकार अभी भी कश्मीर मुद्दे का सेना के जरिए ही समाधान चाहती है।’

आगे उन्होंने कहा, की ‘कश्मीर के लोगों से मेरी बातचीत के जरिए मैं इस निष्कर्ष पर पहुंचा हूं कि जब भी वे आजादी की मांग करते हैं तो दरअसल, इसमें ज्यादातर लोगों की आजादी का मतलब स्वायत्तता से होता है।’ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने जहां इसे शर्मनाक और दुखद कहा है वहीं अरुण जेटली ने भी आलोचना की है।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति इरानी ने कहा:- ‘यह हैरान करने वाला और घिनौना है कि पी. चिदंबरम भारत को टुकड़ों में तोड़ने की बात कर रहे हैं और उन लोगों को समर्थन दे रहे हैं जो वास्तव में हमारे सुरक्षाकर्मियों की हत्या कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता ने सरदार पटेल की धरती (गुजरात) पर यह बात कही है। जिन्होंने भारत को एक संविधान के तहत एकजुट करने के लिए अपना जीवन समर्पित किया था।

मुंबई में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा:- ‘कांग्रेस पर जम्मू एवं कश्मीर में अलगाववाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि चिदंबरम के बयान ने भारत के राष्ट्रीय हितों को आहत किया है। यह एक गंभीर मुद्दा है।’ वित्त मंत्री ने कहा, ‘कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने जो बयान दिया है उस पर पार्टी का कोई रुख है या नहीं? मेरा मानना है कि पार्टी को तुरंत ही स्पष्ट करना चाहिए।’

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here