झारखंड माइनिंग शो के आयोजन में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल

0
33

रांची। राज्य में पहली बार झारखंड माइनिंग शो 2017 (JMS-2017) का आयोजन किया गया। इस माइनिंग शो का आयोजन रांची के धुर्वा स्थिति तारा (एचईसी) मैदान में 30 अक्टूबर नवंबर मतलब आज से किया जा रहा है। इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल पहुंचे और साथ ही उनके साथ सीएम रघुवर दास भी मौजूद थे। ये शो तीन दिन का है। तीन दिवसीय इस माईनिंग शो का उद्घाटन मुख्यमंत्री रघुवर दास ने किया। इस समारोह के लिए सीएम रघुवर ने ट्वीट कर सभी निवेशकों, प्रतिभागियों और पीयूष गोयल का अभिनंदन किया है।
क्या होगा इस माइनिंग शो में:
यह माइनिंग शो समिट खनन उद्योग से जुड़ा होगा। इसके तकनीकी सत्र में कई टेक्निकल सेशन होंगे जिसमें झारखंड में खनन उद्योग पर विशेष चर्चा होगी और सरकार उसके अनुरूप खनन नीति तय करेगी, ताकि खनन उद्योगों को रोजगार के साथ जोड़ा जा सके। माइनिंग शो के दौरान पांच तकनीकी सत्र का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए अब तक 2000 डेलीगेट्स ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। वहीं, प्रदर्शनी के लिए अब तक 50 कंपनियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।
कोल इंडिया और MECL के साथ एमओयू:
इस दौरान सरकार ने कोल इंडिया और मिनरल एक्सप्लोरेशन कारपोरेशन लिमिटेड (MECL) के साथ एमओयू किया। कोल इंडिया के साथ विभिन्न कोल माइंस में बेकार पड़े पानी का उपयोग पेयजल और सिंचाई में करने के लिए एमओयू होगा, जबकि एमईसीएल के साथ खनिजों की खोज के लिए एमओयू किया जाएगा। इसके अलावा भी कई एमओयू हुए। इसके अलावा नए माइनिंग ब्लॉक और खनिज संपदाओं की खोज के लिए भी एमओयू होगा।
समापन समारोह के मुख्य अतिथि:
इस माईनिंग शो समारोह का समापन 1 नवंबर को किया जाएगा जिमे मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर उपस्थित होंगे।
अन्य अतिथि:
इस समारोह में कोल इंडिया के सीएमडी गोपाल सिंह, अडाणी ग्रुप के एमडी राजेश अडाणी, वोल्वो इंडिया के एमडी कमल बाली, एनएमडीसी के सीएमडी एन बिजेंद्र कुमार, बीईएमएल के सीएमडी डीके होटा, टाटा हिताची के एमडी संदीप सिंह, एमएसटीसी के सीएमडी बीबी सिंह, टाटा स्टील के वीपी सुनील भास्करन, टाटा स्टील के वीपी राजीव सिंघल, वेदांता लिमिटेड के सीओओ एस मजूमदार, केसीटी ग्रुप के वीके अरोड़ा, एचईसी के सीएमडी ए घोष, हिंडाल्को के बी झा, हिंदुस्तान कॉपर के निदेशक एसके भट्टाचार्य और कोल इंडिया के पूर्व चेयरमैन पार्थो भट्टाचार्य भी शामिल थे।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here