राष्ट्रगान के मुद्दे पर अनुपम खेर ने कहा- ‘राष्ट्रगान के लिए 52 सेकंड भी नहीं खड़े हो सकते लोग?’

0
37

बॉलीवुड अभिनेता और FTII चेयरमैन अनुपम खेर ने राष्ट्रगान को लेकर बयान दिया है। उन्होंने सवाल किया है कि अगर लोग रेस्टोरेंट में इंतजार कर सकते हैं, सिनेमाघरों की लंबी लाइन में खड़े हो सकते हैं तो फिर हॉल के अंदर महज 52 सेकंड तक राष्ट्रगान के लिए क्यों नहीं खड़े हो सकते हैं?
अनुपम खेर ने यह बात प्रमोद महाजन मेमोरियल पुरस्कार समारोह में कही। इसमें तीन तलाक के मामले में केस दायर करने वाली महिला सायरा बानो को भी पुरस्कृत किया गया। खेर का कहना था कि हम अपने पिता व गुरु के समक्ष भी आदर पूर्वक खड़े होते हैं, तो राष्ट्रगान के लिए क्यों नहीं।
खेर ने अपने भाषण के दौरान, सिनेमाघरों के अंदर राष्ट्रगान को अनिवार्य रूप से बजाए जाने के विचार का विरोध करने वालों की जमकर आलोचना की। अभिनेता ने कहा, ‘‘कुछ लोगों का मानना है कि राष्ट्रगान के समय खड़े होना अनिवार्य नहीं होना चाहिए, लेकिन मेरे लिए राष्ट्रगान के लिए खड़े होना उस व्यक्ति की परवरिश को दिखाता है।’’ खेर ने बताया, ‘‘हम जिस तरह से अपने पिता या शिक्षक के सम्मान में खड़े होते हैं, ठीक उसी तरह राष्ट्रगान के लिए खड़ा होना अपने देश के प्रति सम्मान को दर्शाता है।’’
उनका यह बयान उन लोगों पर हमला है, जो यह मांग कर रहे हैं कि राष्ट्रगान पर खड़ा होना अनिवार्य नहीं किया जाना चाहिए। गौरतलब है कि हाल ही में उच्च न्यायालय ने केंद्र को सिनेमाघरों समेत सार्वजनिक स्थलों पर राष्ट्रगान बजाने के मुद्दे पर फैसला करने का निर्देश दिया था।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here