भारत में WhatsApp की पेमेंट सर्विस लांच होने में लग सकता है 5 महीने का समय

0
25
Whatsapp Payment Service

राज एक्सप्रेस। डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए लोकप्रिय मैसेजिंग एप्प WhatsApp यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) के जरिये इंस्टेंट मनी ट्रांसफर (Whatsapp Payment Service) फीचर लॉन्च करने जा रहा है। जिसके बाद यूजर्स Paytm से करने वाले सारे पेमेंट WhatsApp से कर सकेंगे। खबरों के अनुसार, वॉट्सऐप भारत में अपनी पेमेंट सर्विस को पहले फरवरी में लांच करने वाला था, लेकिन अब अपने पेमेंट डेटा को लोकलाइज और शुरू करने में WhatsApp को 5 महीनों का समय और लगेगा।

चुनिंदा यूजर्स के बीच किया लॉन्च:

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि, वॉट्सऐप ने टेस्टिंग के तहत अपनी पेमेंट सर्विस को कुछ चुनिंदा यूजर्स के बीच लॉन्च किया था। वॉट्सऐप को अभी अपनी पेमेंट सर्विस का टेस्ट करने के लिए 10 लाख यूजर्स के बीच इसे लांच करवाने की परमिशन मिली है। इसके अलावा यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस चलाने वाली नैशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया ने वॉट्सऐप की पेमेंट सर्विस के द्वारा अभी सिर्फ छोटे अमाउंट के ट्रांजैक्शन की परमिशन दी है। डाटा को और सुरक्षित बनाने के लिए ये प्लेटफॉर्म एक पार्टनर बैंक के साथ फिलहाल बीटा स्टेज (टेस्टिंग) में है। इस परमिशन के के बाद वॉट्सऐप को अपनी पेमेंट सर्विस देने के लिए दूसरी कंपनियों के द्वारा किये गए कड़े विरोध का भी सामना करना पड़ा था।

बैंकर ने बताया:

एक बैंकर ने बताया, “देश के अंदर ही पेमेंट डेटा को स्टोर करने के लिए वॉट्सऐप ने शायद काम शुरू कर दिया है लेकिन थर्ड-पार्टी ऑडिट और सभी तकनीकी जरूरतों को पूरा होने में अगस्त या सितंबर तक का वक्त लग सकता है।” इसके अलावा सूत्रों के अनुसार, WhatsApp भारत के कुछ लोकप्रिय बैंकों के साथ मिलकर UPI बेस्ड पेमेंट प्लेटफॉर्म इंटीग्रेट करने के लिए काम कर रहा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिलहाल WhatsApp ने HDFC, State Bank Of India, ICCI और Axis Bank से साझेदारी की है।

नए रेग्युलेश के मुताबिक:

RBI के नए रेग्युलेशन के अनुसार, पेमेंट्स डेटा को भारत में ही स्टोर किया जाना होगा। इसके साथ ही डिजिटल पेमेंट्स बिजनस से जुड़ी सभी कंपनियों को CERTIN के ऑडिटर्स से थर्ड-पार्टी ऑडिट कराना जरूरी होगा। रिपोर्ट के मुताबिक, वॉट्सऐप ने लोकलाइजेशन के लिए एक थर्ड-पार्टी ऑडिटर के साथ काम कर रहा है।

मिलेगी अन्य डिजिटल वॉलेट्स को चुनौती:

WhatsApp का पेमेंट फीचर आने के बाद Paytm और बाकी डिजिटल वॉलेट्स को कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ेगा, Paytm ने WhatsApp पर प्राइवेसी को लेकर चिंता जाहिर की, जिसके तहत WhatsApp ने ना सिर्फ अपने पेमेंट फ्लो डिजाइन की कमियों को दूर करने के लिए उस पर काम किया है, बल्कि भारत में अपनी लीडरशिप टीम को भी मजबूत बनाया है। WhatsApp डिजिटल वॉलेट्स का paytm को कड़ी टक्कर देने का कारण ये है कि, भारत में WhatsApp यूजर्स काफी अधिक की संख्या में लगभग 20 करोड़ से भी ज्यादा है। हलाकि, आजतक WhatsApp ने अपने यूजर्स की गिनती जानकारी नहीं दी है।

ऑपरेशन्स का CGO:

वॉट्सऐप ने हाल ही में अभिजीत बोस को वॉट्सऐप इंडिया का हेड और कोमल लाहिरी को इंडिया ऑपरेशन्स का CGO बनाया है। इसके साथ ही कंपनी फेक न्यूज को रोकने और कंज्यूमर्स को जागरूक बनाने के लिए की मुहिम की शुरुआत भी की है। आपको बताते चले कि, हाल ही में WhatsApp को फेक न्यूज़ फॉरवर्ड करने के तहत सरकार के कड़े रुख का सामना भी करना पड़ा था, इतना ही नहीं सरकार ने वॉट्सऐप से उसके प्लैटफॉर्म पर शेयर होने वाले मेसेज का ऐक्सेस भी मांगा था जो पूरी तरह से एनक्रिप्टेड हों, लेकिन WhatsApp ने अभी तक इसे सरकार के साथ शेयर नहीं किया।

कैसे करेगा काम:

WhatsApp द्वारा किसी यूजर को पेमेंट करने के लिए उसके चैट को ऑपन करना होगा और फिर जहां यूजर्स मेसेज लिखने के लिए टेक्स्ट टाइप करते हैं वहां दाईं ओर अटैचमेंट आइकन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद यूजर को लोकेशन, गैलरी, डॉक्यूमेंट के साथ एक Pay नाम से फीचर दिखेगा। जिस पर क्लिक करने के बाद यूजर को जितना अमाउंट किसी को भेजना है उसे लिखना होगा और फिर 4 नंबर का पिन डालकर भुगतान करना होगा।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image