रिलांयस में हिस्सा खरीदेगी सऊदी अरामको

0
18
Saudi Aramco

राज एक्सप्रेस, नई दिल्ली। रिलायंस ग्रुप को लेकर दो बड़ी खबरें आ रही हैं। पहली खबर ये है कि सऊदी अरामको (Saudi Aramco) रिलायंस के रिफाइनिंग और पेट्रोकेम कारोबार में हिस्सा ले सकती है और दूसरी खबर है कि खिलौनों का मशहूर ब्रांड हैमलीज जल्द ही रिलायंस रिटेल का हो सकता है। दुनिया की सबसे बड़ी तेल उत्पादक कंपनी सऊदी अरामको रिलायंस इंडस्ट्रीज के रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल कारोबार में 25 फीसदी हिस्सेदारी खरीद सकती है। हिस्सेदारी खरीद के लिए सउदी अरामको की रिलांयस इंड्स्ट्रीज से बातचीत चल रही है।

70 हजार करोड़ से 1.05 लाख करोड़ रुपए में खरीदेगी 25 फीसदी हिस्सेदारी

खबरों के मुताबिक 10 से 15 बिलियन डॉलर में सौदा हो सकता है। आरआईएल के रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स बिजनेस की वैल्युएशन लगभग 55 से 60 अरब डॉलर है। इस हिसाब से माइनॉरिटी स्टेक की बिक्री से मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली कंपनी को 10 अरब डॉलर से 15 अरब डॉलर अर्थात 70 हजार करोड़ रुपए से 1.05 लाख करोड़ रुपए के बीच तक मिल सकते हैं। इस पर जून में दोनों कंपनियों के बीच करार होने की संभवाना है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड आरआईएल का कुल मार्केट कैप 122 अरब डॉलर है। गौरतलब है कि सऊदी अरामको ग्लोबल कारोबार बढ़ाना चाहती है वहीं, आरआईएल दूसरे कारोबार में डाइवर्सिफाई कर रही है। फरवरी में सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने मुकेश अंबानी से मुलाकात की थी। गोल्डमैन सैक्स की निगरानी में डील पर बात जारी है।

दुनिया की सबसे अधिक मुनाफा कमाने वाली कंपनी सऊदी अरामको:

बता दें कि, सऊदी अरामको दुनिया की सबसे बड़ी तेल उत्पादक कंपनी है। ये सऊदी अरब की सरकारी कंपनी है। इसने 2018 में रोजाना 1.36 करोड़ बैरल तेल निकाला है। ये दुनिया की सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली कंपनी है। सऊदी अरामको ने पिछले साल 7.7 लाख करोड़ मुनाफा कमाया है। इसकी सालाना आय 25 लाख करोड़ रुपए है। वहीं, रिलायंस भारत की सबसे बड़ी कंपनी है। ये भारत में सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली कंपनी है। रिलायंस देश की दूसरी सबसे बड़ी ऑयल रिफाइनिंग कंपनी है। कंपनी का रिटेल, टेलीकॉम, पेटकेम का मुख्य कारोबार है।

आरआईएल पर कुल तीन लाख करोड़ का कर्ज:

वित्तीय क्षेत्र के एक जानकार ने कहा, आरआईएल ने एनर्जी से लेकर रिटेल और रिटेल से लेकर टेलिकॉम तक खासा काम किया है। इस डील से यह फंड बढ़ाने में मदद मिलेगी और शेयर होल्डर को भी खासा फायदा होगा। आरआईएल ने टेलिकॉम क्षेत्र में रिलायंस जियो में खासा निवेश किया है, जिससे उस पर कुल कर्ज 3 लाख करोड़ रुपए हो गया है। कर्ज कम करने की प्रक्रिया जियो को विस्तार की योजना पर काम करने का मौका देगा।

हैमलीज को खरीदने की तैयारी में रिलायंस रिटेल:

रिलायंस रिटेल एक और बड़ी डील करने जा रही है। रिलायंस रिटेल खिलौनों के मशहूर ग्लोबल ब्रांड हैमलीज को खरीदने जा रहा है। दोनों कंपनियों के बीच बातचीत काफी आगे बढ़ गई है। हैमलीज खिलौनों का मशहूर ग्लोबल ब्रांड है। रिलायंस हैमलीज का कारोबार और पोर्टफोलियो बढ़ाएगी। तीन साल में भारत में हैमलीज के स्टोर बढ़कर 200 होंगे। हैमलीज की चीनी पैरेंट कंपनी कारोबार बेचना चाहती है। पैरेंट कंपनी सी बैनर ने 2015 में हैमलीज को खरीदा था।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image