चार माह बाद बढ़ी खुदरा महंगाई

0
19
Retail Inflation

राज एक्सप्रेस, नई दिल्ली। आवास, स्वास्थ्य, शिक्षा तथा अन्य सेवाओं के महंगा होने से फरवरी में (Retail Inflation) खुदरा मूल्य आधारित महंगाई की दर चार महीने बाद फरवरी में बढ़कर 2.57 प्रतिशत पर पहुंच गई। इससे पहले अक्टूबर 2018 से जनवरी 2019 के दौरान लगातार चार महीने इसमें गिरावट देखी गयी। जनवरी में यह 1.97 प्रतिशत रही थी। पिछले साल फरवरी में 4.44 प्रतिशत रही थी। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, गत फरवरी में एक साल पहले के मुकाबले सब्जियों, फलों, चीनी और कन्फेक्शनरी उत्पाद तथा दालें सस्ती होने से खाद्य खुदरा महंगाई 0.66 प्रतिशत ऋणात्मक रही।

सब्जियों के दाम बढ़ने से फरवरी में 2.57 पर पहुंची महंगाई:

फरवरी 2018 की तुलना में फरवरी 2019 में सब्जियों के दाम 7.69 प्रतिशत, चीनी और कन्फेक्शनरी उत्पादों के 6.92 प्रतिशत, फलों के 4.62 प्रतिशत और दालें तथा उनके उत्पाद 3.82 प्रतिशत सस्ते हुये हैं। इसके बावजूद आवास तथा सेवाओं के महंगा होने से महंगाई की दर बढ़ी है। फरवरी में आवास 5.10 प्रतिशत, स्वास्थ्य सेवाएं 8.82 प्रतिशत, शिक्षा 8.13 प्रतिशत, घरेलू उत्पाद एवं सेवाएं 6.29 प्रतिशत, मनोरंजन के साधन 5.54 प्रतिशत और सौंदर्य प्रसाधन 5.01 प्रतिशत महंगे हुए। खान पान की अन्य वस्तुओं में मांस और मछली 5.92 फीसदी, गैर-अल्कोहलिक पेय पदार्थ 3.89 प्रतिशत और खाने-पीने की तैयार चीजें एवं मिठाइयां 3.54 प्रतिशत महंगी हुईं।

औद्योगिक उत्पादन की रफ्तार सुस्त जनवरी में आईआईपी 1.7 फीसदी बढ़ा:

जनवरी में आईआईपी वृद्धि दर गिरकर 1.7 प्रतिशत रही। एक साल पहले यानी जनवरी 2018 में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रही थी। सीएसओ ने दिसंबर 2018 के आईआईपी आंकड़ों को ऊपर की ओर संशोधित कर 2.6 प्रतिशत कर दिया है। मौजूदा वित्त वर्ष के जनवरी 2019 तक आईआईपी की वृद्धि दर 4.4 प्रतिशत दर्ज की गयी है। आईआईपी में शामिल 23 उद्योग समूहों में से 11 में वृद्धि की गयी है। जनवरी 2019 में खनन के उत्पादन में 3.9 प्रतिशत, विनिर्माण में 1.3 प्रतिशत और बिजली में 0.8 प्रतिशत की तेजी आयी है। अप्रैल 2018 से लेकर जनवरी 2019 तक खनन का उत्पादन 3.2 प्रतिशत, विनिर्माण का 4.4 प्रतिशत और बिजली क्षेत्र का 5.9 प्रतिशत बढ़त में रहा है।

इसी माह उपभोक्ता टिकाऊ वस्तु के उत्पादन में तेजी:

आंकड़ों में बताया गया है कि, जनवरी 2019 के दौरान खाद्य उत्पादन के समूह में सर्वाधिक 17 प्रतिशत, परिधान समूह में 16.4 प्रतिशत और प्रिटिंग एवं रिकार्डेड मीडिया के पुन: उत्पादन समूह में 10.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। दूसरी ओर इसी माह में फर्नीचर उत्पादन में सर्वाधिक 12 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी है। फैब्रिकेटेड धातु उत्पाद में 9.0 प्रतिशत और कागज एवं कागज उत्पाद में 6.4 प्रतिशत की कमी आयी है। उपभोग के आधार पर जनवरी 2019 में प्राथमिक वस्तु समूह में 1.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी है। दूसरी ओर भारी वस्तु समूह में 3.3 प्रतिशत, गौण वस्तु समूह में तीन प्रतिशत तथा निर्माण एवं बुनियादी क्षेत्र से जुड़ी वस्तुओं के उत्पादन में 7.9 प्रतिशत तेजी आयी है। इसी माह में उपभोक्ता टिकाऊ वस्तु का उत्पादन 1.8 प्रतिशत की तेजी आयी है।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image