एवनफील्ड भ्रष्टाचार मामले में पाक के पूर्व PM नवाज शरीफ को राहत, नेब की अपील खारिज

0
18
Avenfield Corruption Case

इस्लामाबाद। एवनफील्ड भ्रष्टाचार मामले (Avenfield Corruption Case) में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके परिवार को सोमवार को उच्चतम न्यायालय से बड़ी राहत मिली। शीर्ष न्यायालय ने इस मामले में शरीफ परिवार की सजा निलंबित किये जाने के खिलाफ राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (नेब) की अपील खारिज कर दिया। मुख्य न्यायाधीश साकिब निसार की अगुवाई वाली पांच सदस्यीय पीठ ने एवनफील्ड भ्रष्टाचार मामले में शरीफ परिवार की सजा को निलंबित किये जाने के इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के आदेश को बरकरार रखा। इस मामले में नेब अदालत ने नवाज शरीफ को 11 वर्ष उनकी बेटी मरयम को आठ साल और दामाद सफदर को एक साल की सजा दी थी।

उच्च न्यायालय ने नौ सितंबर को सजा को निलंबित कर दिया था:

इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने नौ सितंबर को शरीफ और उनके परिवार की सजा को निलंबित कर दिया था। नेब अदालत ने छह जुलाई को इस मामले में सजा सुनाई थी। मुख्य न्यायाधीश की अगुवाई में न्यायमूर्ति आसिफ सईद खोसा, न्यायमूर्ति गुलजार अहमद, न्यायमूर्ति मुशीर आलम और न्यायमूर्ति मजहर आलम मियांखेल की खंडपीठ ने उच्च न्यायालय के आदेश को बराबर करते हुए नेब की इस मामले में नवाज शरीफ की जमानत को खारिज करने की याचिका को निरस्त कर दिया। जियो के अनुसार, नेब की याचिका को खारिज करते हुए खंडपीठ ने कहा कि नेब, ‘जमानत खारिज करने के आधार’ पेश करने में नाकाम रहा। खंडपीठ ने कहा कि, उच्च न्यायालय ने इस मामले में जमानत मंजूर करने के अपने अधिकारों का दुरुपयोग नहीं किया है।

इसी महीने पाकिस्तान उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश पद का कार्यभार संभालने जा रहे न्यायमूर्ति सईद खोसा ने कहा कि, इस्लामाबाद उच्च न्यायालय का फैसला अस्थायी है और शीर्ष न्यायालय इसमें हस्तक्षेप नहीं करेगा। न्यायमूर्ति खोसा ने कहा, ‘‘नवाज शरीफ पहले ही जेल में हैं, उन्होंने जमानत का दुरुपयोग नहीं किया और सुनवाई के दौरान अदालत में नियमित हाजिर होते रहे।’’

यह भी पढ़े: भ्रष्टाचार के मामले में 7 वर्ष के लिए जेल भेजे गए पाक के पूर्व PM नवाज शरीफ

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image