मध्यप्रदेश में ठंड से राहत की उम्मीद नहीं, फिर बदलेंगे मौसम के मिजाज

0
42
Cold Weather MP

राज एक्सप्रेस, भोपाल। उत्तर भारत की ओर आ रही बर्फीली हवाओं के चलते राज्य भर में पड़ रही कड़ाके की ठंड से फिलहाल दो दिन तक राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। राजधानी सहित पूरे मध्यप्रदेश में रविवार को चौथे दिन भी बेहाल कर देने वाली कड़ाके की सर्दी (Cold Weather MP) का दौर जारी है। पश्चिमी विक्षोभ के कारण देश के उत्तरी हिस्से में आने वाले जम्मू काश्मीर में सर्दी का सितम जारी होने के वजह से इसका असर प्रदेश में पड़ रहा है। ठंड के प्रभाव से न केवल राज्य के पूर्वी हिस्से में, बल्कि पश्चिमी हिस्से में आने वाले अधिकांश स्थानों पर तापमानों में गिरावट आयी है। संभावना व्यक्त की गई है कि, अगले एक दो दिन में और तापमानों में गिरावट आ सकती है। ऐसे में अभी कम से कम दो दिन तक ठंड से फिलहाल राहत मिलने की उम्मीद नही है।

बर्फीली हवाओं के कारण मलाजखंड, सिवनी और इंदौर में कल ठंड का असर दूसरे स्थानों की अपेक्षा सबसे ज्यादा दर्ज किया गया। इसके बाद दूसरे स्थान पर जबलपुर, नौगांव, भोपाल, राजगढ़, शाजापुर और श्योपुरकला रहा। यह स्थिति इन स्थानों पर अगले एक या दो दिन और बने रहने की संभावना है। वहीं शीतलहर की चपेट में रहे खजुराहो, बैतूल, धार, रतलाम, रीवा, उमरिया, जबलपुर, मलाजखंड, सिवनी, नौगांव, सागर, दमोह, राजगढ और शाजापुर जिले में आगे भी एक दो दिन तक यही स्थिति रहने का अनुमान है।

मौसम वैज्ञानिकों ने बताया:

मौसम वैज्ञानिकों ने बताया है कि, एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ के असर से मध्यप्रदेश के अनेक स्थानों पर वर्षा या गरज चमक के साथ बौछारे व कहीं-कहीं ओलावृष्टि की संभावना बनी है। आगामी 48 घंटों के दौरान राज्य के मंदसौर, नीमच, रतलाम जिले के अलावा ग्वालियर तथा चंबल संभाग में हल्का कोहरे की उम्मीद है। वहीं 24 घंटो के दौरान पश्चिमी मध्यप्रदेश में आने वाले कुछ स्थानों पर शीतलहर और शीतल दिन की परिस्थितियां रहेगी। वैज्ञानिकों ने आशंका जाहिर की है कि, अगले 24 घंटो के दौरान उत्तर पश्चिमी मप्र के निवाड़ी, टीकमगढ़, छतरपुर, पन्ना, सतना, रीवा, सीधी, सिंगरौली, सागर, दमोह, कटनी, उमरिया और शहडोल जिले में न्यूनतम तापमान में गिरावट आ सकती है।

भोपाल सहित एक दर्जन से अधिक स्थान ठंड की प्रकोप से जुझ रहे है। इससे रात दस बजे के बाद सड़कों पर आवागमन काफी प्रभावित रहता है। रात के 9 बजते ही बाजारों की रौनक फीकी पड़ने लगती है। यह स्थिति सुबह आठ बजे तक बनी रहती है। राज्य के अधिकांश शहरों में पारा 4 से 6 डिग्री के बीच रिकार्ड किया गया। कई शहरों में न्यूनतम पारा 8 डिग्री के आसपास दर्ज किया गया। भोपाल में अधिकतम तापमान 23.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से तीन डिग्री कम रहा। वहीं न्यूनतम तापमान 6.4 डिग्री दर्ज किया गया, जो सामान्य से छह डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया। यहां आने वाले दो दिनों में इसी तरह का मौसम बना रहने का अनुमान व्यक्त किया गया है।

मध्यप्रदेश के प्रमुख नगरों का तापमान:
नगर   अधिकतम   न्यूनतम
भोपाल 23.4  6.4
इंदौर   25.1  7.7
ग्वालियर    22.4  5.3
जबलपुर   22.3  6.4
रीवा    4.0
सतना   22.7 7.1
तीन दिन बाद फिर बदलेंगे मौसम के मिजाज, हो सकती है बारिश:

राजधानी भोपाल में रविवार को दिन में धूप निकली, लेकिन फिजा में ठंडक घुली रही। शाम होते होते ठंडी हवाएं और तेज होने के साथ ही तेज ठंड महसूस होने लगी। आगामी तीन दिन यानि 13 तारीख तक मौसम के मिजाज ऐसे ही बने रहेंगे और तापमान धीरे धीरे बढ़ेंगे। बुधवार के आसपास एक पश्चिमी विक्षोभ के फिर से संकेत मिले रहे हैं। उसके प्रभाव से उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में फिर बर्फबारी शुरु होगी। साथ ही प्रदेश सहित शहर में मौसम के मिजाज में बदलाव आएगा। इससे रात के तापमान बढ़ने और दिन में ठंडक बढ़ने के आसार हैं। 14 तारीख को राजधानी सहित आस-पास के क्षेत्रों में मौसम के मिजाज एक बार फिर बदलने की उम्मीद है। बादल छाए रहने और वर्षा होने की संभावना है। ठंडी हवाओं के कारण ठिठुरन बढ़ गई।

यह भी पढ़ें : कश्मीरी सर्द हवाओं से मध्य प्रदेश में बढ़ी ठंड, दतिया में गिरा पारा

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image