माइक्रो स्माल एंड मीडियम एंटरप्राइस (MSME) क्षेत्र दे सकता है एक करोड़ रोजगार

0
11
MSME

नई दिल्ली। बेरोजगारों को मिलेंगे अब रोजगार के अवसर, क्योंकि अब माइक्रो स्माल एंड मीडियम एंटरप्राइस (MSME) क्षेत्र रोजगार के अवसर दे सकता है। जी हां, अब MSME क्षेत्र एक करोड़ रोजगार दे सकता है। देश के सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उपक्रम (MSME) क्षेत्र में अगले 4-5 साल में एक करोड़ नए रोजगार के अवसर सृजित करने की क्षमता है। नोमूरा रिसर्च इंस्टिट्यूट एनआरआई कंसल्टिंग एंड साल्यूशंस की रिपोर्ट में कहा गया है कि, आयात होने वाली कुछ वस्तुओं का देश में ही उत्पादन करने के लिए उपक्रमों के विकास पर ध्यान देकर ऐसा किया जा सकता है।

रिपोर्ट के अनुसार:

रिपोर्ट में कहा गया है कि, कुछ खंडों में MSME का विकास होने पर अगले चार से पांच साल में रोजगार के 75 लाख से एक करोड़ अतिरिक्त अवसरों का सृजन किया जा सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि, देश के विनिर्माण क्षेत्र को दोहरी जिम्मेदारी को अपने कंधों पर उठाना होगा। कृषि क्षेत्र से आने वाले श्रमिकों को तो संभालना ही होगा इसके साथ ही श्रम बल में शामिल होने वाले नये बल की जिम्मेदारी भी इसी क्षेत्र पर होगी।

70 फीसदी रोजगार दे रहा एमएसएमई

एमएसएमई मंत्रलय की 2017-18 की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार विनिर्माण क्षेत्र में 3.6 करोड़ यानी 70 प्रतिशत रोजगार का योगदान एमएसएमई क्षेत्र का रहा है। देश में विभिन्न कारोबार में एमएसएमई का विस्तार हुआ है। विभिन्न उत्पादों के विनिर्माण के लिए देशभर में शंकुल बने हैं। इनमें कृत्रिम आभूषण, खेलकूद के सामान, वैज्ञानिक उपकरण, कपड़ा मशीनरी, बिजली के पंखे, रबड़, प्लास्टिक, चमड़ा और संबंधित उत्पादों सहित कई अन्य उत्पाद शामिल हैं। इन क्षेत्रों में एमएसएमई को और विकसित करने से रोजगार के अतिरिक्त अवसर पैदा हो सकते हैं।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image