भारत-अमेरिका दोनों मिलकर छोटे मानव रहित विमान बनाने पर कर रहे विचार

0
23
Unmanned Aerial Vehicles

वॉशिंगटन। भारत और अमेरिका ने विमान रखरखाव के अलावा छोटे यूएवी और हल्के और छोटे हथियार बनाने की टैक्नोलॉजी संबंधी प्रॉजेक्ट को दोनों देशों के बीच डिफेंस कॉपरेशन के लिए चिह्न्ति किया है। पेंटागन के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी। अमेरिका का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब दोनों देशों के रक्षा अधिकारियों ने हाल में यहां डिफेंस टैक्नॉलजी ऐंड ट्रेड इनीशिएटिव पर चर्चा की।

एक परियोजना पर विचार-

भारत-अमेरिका डीटीटीआई बैठक में दोनों देशों में उद्योगों को मिलकर काम करने और अगली पीढ़ी की तकनीक विकसित करने के लिए प्रोत्साहित करने पर ध्यान केंद्रित किया गया। एक्वीजीशन एंड अटेनमेंट के लिए अमेरिका की सहायक रक्षा मंत्री एलेन लॉर्ड ने शुक्रवार को पेंटागन में मीडिया से कहा, हम जिस एक परियोजना पर विचार कर रहे हैं, वह छोटे मानवरहित विमान (Unmanned Aerial Vehicles) को लेकर है।

यह भी पढ़ें: मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में चीन ने लगाया अंड़गा, UN सदस्य बोले- कोई ओर कदम उठाना पड़ेगा

अमेरिका और भारत को होगा लाभ

लार्ड ने रक्षा उत्पादन सचिव अजय कुमार के साथ बैठक की सह अध्यक्षता की। ड्रोन को लेकर मुख्य रूप से बातचीत अमेरिकी वायुसेना की रिसर्च विंग और भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के बीच हो रही है। दोनों पक्ष अप्रैल में तकनीकी योजना संबंधी दस्तावेज तैयार करेंगे। उन्होंने कहा, हम सितंबर में इस पर हस्ताक्षर की योजना बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि, इस सह विकास में भारतीय उद्योग को शामिल किए जाने की संभावना है। लार्ड ने कहा हम चाहते हैं कि, अमेरिकी और भारतीय तकनीक को साथ लेकर उन्हें युद्ध में लड़ने की क्षमता के तौर पर विकसित किया जाए जिसका प्रयोग भारत और अमेरिका दोनों कर सकें, इससे अमेरिका और भारत दोनों को लाभ होगा।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image