टेनिस खिलाड़ी रोमानिया की सिमोना हालेप को आस्ट्रेलियन ओपन में खिताबी जीत की उम्मीद

0
17
Simona Halep

राज एक्सप्रेस। वर्ल्ड नंबर-1 रोमानिया की सिमोना हालेप (Simona Halep) ने शनिवार को कहा कि साल के पहले ग्रैंड स्लैम आस्ट्रेलियन ओपन की अपनी तैयारियों को लेकर वह आश्ववस्त हैं। रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल फ्रेंच ओपन खिताब जीतने के बाद से हालेप को पिछले तीन ग्रैंड स्लैम फाइनल में हार का सामना करना पड़ा है, जिसमें पिछले साल का आस्ट्रेलियन ओपन भी शामिल हैं। हालेप से जब पूछा गया कि, आस्ट्रेलियन ओपन से पहले उन्हें किसी तरह की अंतर महसूस हुई है, उन्होंने कहा, मेरे अंदर यह एक बहुत बड़ा बदलाव है क्योंकि मैंने वह किया, जो मैं करना चाहती थी।

आखिरकार मैं एक ग्रैंड स्लैम जीत चुकी हूं और अब मैं कह सकती हूं कि, मैं असली नंबर-1 हूं। हालेप कोच डैरेन काहिल से अलग होने के बाद बिना कोच के ही इस टूर्नामेंट की तैयारी कर रही है। उन्होंने कहा कि, नए कोच की नियुक्ति को लेकर वह ज्यादा जल्दबाजी में नहीं है। वर्ल्ड नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी ने कहा, मैं यह महसूस करना चाहती हूं कि, मैं एक और चुनौती के लिए तैयार हूं, क्योंकि हर बार आपको अपना 100 प्रतिशत देना होता है। आस्ट्रेलियन ओपन के पहले राउंड में हालेप का सामना इस्तोनिया की कायरा कनेपी से होगा।

प्रजनेश गुणोश्वरन का पहले दौर में मुकाबला टियाफो से

भारत के शीर्ष एकल खिलाड़ी प्रजनेश गुणोश्वरन का साल के पहले ग्रैंड स्लेम आस्ट्रेलियन ओपन के पहले दौर में अमेरिकी खिलाड़ी फ्रांसिस टियाफो से मुकाबला होगा। विश्व में 112वीं रैंकिंग पर मौजूद प्रजनेश ने जापान के योसुके वातानुकी को तीसरे और अंतिम राउंड में 6-7, 6-4, 6-4 से हराकर मुख्य ड्रॉ में जगह बनाई। उन्होंने पहले दो राउंड में कोई सेट नहीं गंवाया था और तीसरे राउंड में पहला सेट गंवाने के बाद वापसी करते हुये जीत हासिल की। प्रजनेश को साल के अपने पहले टूर्नामेंट टाटा ओपन महाराष्ट्र में मुख्य ड्रॉ में वाइल्ड कार्ड प्रवेश दिया गया था, लेकिन उन्हें पहले ही दौर में हार का सामना करना पड़ा था।

उन्होंने यहां तीन मैच जीतते हुये पहली बार किसी ग्रैंड स्लेम के मुख्य ड्रॉ में जगह बनाई है। वह पिछले वर्ष पेरिस में फ्रेंच ओपन के मुख्य ड्रॉ में जगह बनाने से चूक गये थे। भारतीय खिलाड़ी को पिछले साल विंबलडन के पहले क्वालिफाइंग राउंड में हार का सामना करना पड़ा था, जबकि एशियाई खेलों में हिस्सा लेने के लिये उन्होंने यूएस ओपन को छोड़ दिया था। प्रजनेश ने जकार्ता एशियाई एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता था। पिछले साल तीन चैलेंजर खिताब जीतने वाले 29 वर्षीय प्रजनेश के सामने आस्ट्रेलियन ओपन के पहले राउंड में 39वीं रैंकिंग के अमेरिकी खिलाड़ी तियाफो की चुनौती होगी।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image