Chinese Grand Prix 2019: हैमिल्टन ने जीती एफ-1 विश्व चैम्पियनशिप की 1000वीं रेस

0
23
Lewis Hamilton

राज एक्सप्रेस। मर्सिडीज टीम के ब्रिटिश चालक लुईस हैमिल्टन (Lewis Hamilton) ने रविवार को शंघाई इंटरनेशनल सर्किट पर आयोजित चाइनीज ग्रांप्री (Chinese Grand Prix 2019) रेस जीतकर अपना नाम इस खेल के इतिहास में अमर कर लिया। यह एफ-1 विश्व चैम्पियनशिप इतिहास की 1000वीं रेस थी। हेमिल्टन ने 900वीं रेस भी जीती थी और वे अब तक मौजूदा चालकों में सबसे अधिक 75 बार पहला स्थान हासिल कर चुके हैं। एफ-1 इतिहास में ब्रिटिश चालकों का बोलबाला रहा है। 1000 में से 279 बार ब्रिटेन के चालकों ने रेस में पहला स्थान हासिल किया है। इनमें 75 जीत के साथ हेमिल्टन सबसे आगे हैं। वैसे एफ-1 इतिहास में सबसे अधिक जीत का रिकॉर्ड जर्मनी के चालक माइकल शूमाकर के नाम है। शूमाकर ने कुल 91 रेस जीती है।

जर्मन चालकों की बात करें तो वे 178 बार पहला स्थान हासिल करने में सफल रहे हैं। ब्रिटिश चालकों में हेमिल्टन के बाद निगेल मैंशेल ने 31, जैकी स्टीवार्ट ने 27, जिम क्लार्क ने 25, डेमन हिल ने 22, स्टर्लिग मॉस ने 16, जेनसन बटन ने 15, ग्राहम हिल ने 14, डेविड कोर्टलैंड ने 13, जेम्स हंट ने 10, टोनी ब्रुक्स ने 6, जॉन सर्टीस ने 6, जॉन वॉटसन ने 5, एडी इर्विन ने 4, माइक हॉथॉर्न ने 3, पीटर कोलिंस ने 3, जॉनी हर्बर्ट ने 3, इनेस आयरलैंड और पीटर गेटहिन ने 1-1 रेस जीती है। जर्मन चालकों में शूमाकर ने 91, शंघाई में तीसरे स्थान पर रहे सेबेस्टियन वेटेल ने 52, निको रोसबर्ग ने 23, राल्फ  शूमाकर ने 6, हेंज फ्रेंटजेन ने 3, वूल्फगैंग ट्रिप्स ने 2 और जोचेन मास ने 1 रेस जीती है।

सिर्फ तीन देशों ने जीती है 100 से अधिक रेस

एफ-1 इतिहास में सिर्फ ब्रिटेन, जर्मनी और ब्राजील के चालक 100 से अधिक रेस जीत सके हैं। ब्राजील की बात करें तो उसके एफ-1 आयकन एर्टन सेना ने 41 बार पहला स्थान हासिल किया है जबकि नेल्सन पिग्वेट ने 23, एमर्सन फिट्टीपाल्डी ने 14, रुबेंस बारीचेलो ने 11, फिलिप मासा ने 11 और कालरेस पेस ने 1 एक रेस जीती है। इसके बाद फ्रांसीसी चालकों का स्थान आता है। फ्रांस के लिए एलेन प्रॉस्ट ने सबसे अधिक 51 बार पहला स्थान हासिल किया है। इसके बाद रेने एर्नाक्स ने सात, जेक्विस लेफिट ने छह बार रेस जीती है।

सबसे अधिक रेस जीतने वाले देशों की सूची में पांचवें स्थान पर फिनलैंड का नाम है, जिसके लिए किमी राइकोनेन ने सबसे अधिक 21 रेस जीती है। शंघाई में रविवार को राइकोनेन नौवें स्थान पर रहे। इसके बाद मीका हेकिनेन ने 20, केके रोसबर्ग ने 5, इस साल मर्सिडीज के चालक वालटेरी बाटोस ने 4 बाटोस शंघाई में दूसरे स्थान पर रहे। चालक के लिहाज से सबसे अधिक जीत का रिकॉर्ड शूमाकर के नाम रहा है, जो 1991 से 2006 और 2010 से 2012 तक सक्रिय रहे। चाइनीज ग्रांप्री शूमाकर की अंतिम रेस थी।  एफ-1 रेसों का आयोजन भारत सहित कुल 32 देशों में हो चुका है।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image