कर्नाटक और गुजरात की गलतियों से ली सीख, तीन प्रदेशों में बनाएंगे सरकार: कमलनाथ

0
17
Kamal Nath

राज एक्सप्रेस, भोपाल। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ (Kamal Nath) ने कहा कि, पार्टी ने कर्नाटक और गुजरात की गलतियों से सीख ली है और पार्टी के पास मध्यप्रदेश में 140 से ज्यादा सीटें आ रही हैं। गुरुवार को यहां संवाददाताओं से चर्चा के दौरान श्री कमलनाथ ने कहा कि, उन्होंने प्रदेश में एक-एक क्षेत्र का अध्ययन किया है। कांग्रेस के पास 140 से ज्यादा सीटें आ रहीं हैं। गुजरात और कर्नाटक में पार्टी से जो गलतियां हुईं, उनसे भी सीख ली गई है।

भाजपा पर धनबल के दुरुपयोग का आरोप:

श्री कमलनाथ ने सत्तारूढ दल भाजपा पर चुनाव में धनबल के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए कहा कि, भाजपा को पैसे बांटने से भी कुछ नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि, प्रदेश की जनता समझदार है और मतदाताओं ने प्रदेश और विकास के हित में मत दिया है। उन्होंने आगे कहा कि, प्रशासनिक दुरुपयोग का पूरा प्रयास हुआ, लेकिन प्रशासनिक तंत्र ने किसी प्रकार का पक्षपात नहीं किया, जिसके लिए तंत्र बधाई का पात्र है।

नाम में नहीं ‘पोस्ट’ में बदलाव की जरूरत:

प्रदेश में व्यवस्था परिवर्तन पर जोर देते हुए कमलनाथ ने कहा कि, अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही व्यवस्था के तहत कई पदनाम आज भी वही हैं, जो उस समय थे। उन्होंने इस क्रम में कलेक्टर का उदाहरण देते हुए कहा कि, ‘कलेक्ट’ करने वाले को ये नाम दिया गया। अब इस सोच में बदलाव की जरूरत है। उन्होंने कहा कि, नाम में नहीं ‘पोस्ट’ में बदलाव की बात है।

देश के संस्थानों में भी हो गया विभाजन :

श्री कमलनाथ ने बिना किसी का नाम लिया कहा कि, देश में सीबीआई और आरबीआई जैसे संस्थानों में भी विभाजन हो गया है। ये बांटने की राजनीति है। क्या इससे कोई सरकार चल सकती है? उन्होंने कहा कि, उन्हें  मुख्यमंत्री पद को लेकर कोई चिंता नहीं है। आज कांग्रेस की ओर से सभी दावेदारों को मतगणना से जुड़ा प्रशिक्षण दिए जाने के संदर्भ में श्री कमलनाथ ने कहा कि, उन्होंने निर्वाचन आयोग से कहा है कि, हर राउंड के बाद मतों की घोषणा के दौरान वे प्रत्याशियों के हस्ताक्षर ले लें। ये कदम उनके लिए भी लाभकारी होगा।

भाजपा के कई नेता संपर्क में :

प्रशिक्षण स्थल पर लगे पोस्टरों में पार्टी की चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया की तस्वीर नहीं होने पर श्री कमलनाथ ने कहा कि, लोग अति उत्साह में ऐसी पोस्टरबाजी करते हैं। इस दौरान उन्होंने दावा किया कि, भाजपा के कई नेता चुनाव के बाद भी उनके संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि, पार्टी मध्यप्रदेश के साथ छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भी सरकार बनाने जा रही है और शुक्रवार के एग्जिट पोल में ये बात साफ हो जाएगी। प्रदेश में 28 नवंबर को मतदान के बाद 11 दिसंबर को नतीजों के साथ अगली सरकार की तस्वीर साफ हो जाएगी।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image