तीन चरणों में रहेगी मतगणना की सुरक्षा, 400 जवान रहेंगे तैनात

0
16
Assembly Election 2018 Counting

राज एक्सप्रेस, छतरपुर। आगामी 11 दिसम्बर को विधानसभा चुनाव 2018 की मतगणना (Assembly Election 2018) की जानी है। मतगणना स्थल को पूरी तरह से सुरक्षित रखा जा रहा है। उत्कृष्ट हायर सेकेण्डरी स्कूल क्रमांक एक में बनाए गए 6 स्ट्रांग रूम की विधिवत सुरक्षा की जा रही है। मतगणना के दिन भी सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम रहेंगे। एके-47 से लैस 400 जवान मतगणना स्थल पर तैनात रहेंगे। स्ट्रांग रूम की पर्याप्त सुरक्षा है।

गड़बड़ी करने वालों को बाहर फेंकेंगे बाउंसर:

तीन चरणों में रहेगी मतगणना की सुरक्षा, 400 जवान रहेंगे तैनात (Assembly Election 2018 Counting)गड़बड़ी करने वालों को सरकारी बाउंसर बाहर फेंक देंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर रमेश भण्डारी ने बताया कि, स्ट्रांग रूम की पर्याप्त सुरक्षा है। मतगणना में किसी भी तरह की गड़बड़ी नहीं होगी। हर स्तर पर सुरक्षा की जा रही है। उन्होंने बताया कि, तीन स्तरों की चैकिंग की जाएगी। सबसे पहले सड़क पर आने वाले व्यक्ति की जांच होगी, इसके बाद प्रवेश के दौरान जांच होने के पश्चात मतगणना स्थल पहुंचने के पहले चैकिंग की जाएगी। मतगणना सुबह 8 बजे से शुरू होगी। सबसे पहले डाक मतपत्र गिने जाएंगे। इसके बाद विधानसभा वार बनाई गई टेबिलों के माध्यम से कंट्रोल यूनिट से वोटों की गिनती होगी। रिटर्निग एवं सहायक रिटर्निग अधिकारियों का प्रशिक्षण हुआ, किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी।

प्रत्याशी सहित कुल 17 लोग मौजूद रहेंगे:

जिला निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक कुल 14 टेबिलें लगाई जाएंगी। प्रत्येक टेबिल में एक-एक एजेंट प्रत्याशी द्वारा नियुक्त किया जाएगा। इसके अलावा रिटर्निग ऑफिसर की टेबिल के पास तीन लोग रहेंगे। इस तरह से प्रत्याशी सहित कुल 17 लोग मौजूद रहेंगे। उन्होंने बताया कि, जिस विधानसभा के लिए एजेंट निर्धारित किया गया है वह उसी विधानसभा तक सीमित रहेगा। यदि निर्धारित विधानसभा से एजेंट किसी अन्य विधानसभा की ओर जाता है तो उसे इसका मौका ही नहीं दिया जाएगा।

माचिस भी नहीं जा सकेगी अंदर:

मतगणना स्थल तक पहुंचने के लिए सुरक्षा के कई चरणों से गुजरना पड़ेगा। प्रत्याशी द्वारा बनाए गए एजेंटों की तलाशी ली जाएगी। बीड़ी, माचिस, पान, गुटखा, मोबाइल आदि सामग्री मतगणना स्थल पर नहीं जाने दी जाएगी। एजेंटों की तलाशी लेकर ही उन्हें अंदर जाने का मौका दिया जाएगा। एजेंट को फोटोयुक्त प्रवेश पत्र जारी किया जा रहा है ताकि उसी प्रवेश पत्र के आधार पर एजेंट को अंदर जाने की अनुमति मिले।

हर कक्ष में लगेंगे तीन वेब कैमरे:

कलेक्टर रमेश भण्डारी ने बताया कि, प्रत्येक कक्ष में तीन वेब कैमरे लगाए जाएंगे। इसके अलावा परिसर में 5 कैमरे लगाए जाएंगे। कुल 23 कैमरों को लगाया जा रहा है। चप्पे-चप्पे पर कैमरे की नजर रहेगी। यह सब व्यवस्था इसलिए की जा रही है ताकि लोग पूर्वाग्रह से ग्रसित न रहें। पूरे प्रदेश में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो रहे थे तो ऐसा किया।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image