देश के सर्वोच्च खेल सम्मान “राजीव गांधी खेल रत्न” को लेकर जबरदस्त कशमकश

0
33
Rajiv Gandhi Khel Ratna
खेल रत्न

29 अगस्त को खेल दिवस के दिन दिए जाने वाले राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों को 18वें एशियाई खेलों के चलते 25 सितम्बर तक हो जाने के कारण इस बार देश के सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न (Rajiv Gandhi Khel Ratna) को लेकर कशमकश की स्थिति बन गयी है। इस साल अप्रैल में ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों और अगस्त-सितम्बर में इंडोनेशिया में हुए 18वें एशियाई खेलों में कई भारतीय खिलाड़ियों ने उम्दा प्रदर्शन किया जिससे चयन समिति के सामने असमंजस की स्थिति रहेगी। अब यह स्थिति है कि चयन समिति को कई खेल रत्न चुनने होंगे।

सरकार की वैसे नीति है कि-

देश के सर्वोच्च खेल सम्मान "Rajiv Gandhi Khel Ratna " को लेकर जबरदस्त कशमकश ओलम्पिक वर्ष में ही एक से ज्यादा Rajiv Gandhi Khel Ratna दिए जाएंगे और बाकी वर्षों में सिर्फ एक खिलाड़ी को खेल रत्न मिलेगा लेकिन इस बार राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के चलते यह स्थिति बदल सकती है। राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के अब तक के इतिहास में वर्ष 2016 में रियो ओलिंपिक के बाद सबसे अधिक चार खेल रत्न पुरस्कार दिए गए थे। तब ओलम्पिक रजत विजेता बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू ,कांस्य पदक विजेता पहलवान साक्षी मलिक, चौथा स्थान पाने वाली जिम्नास्ट दीपा कर्माकर और निशानेबाज जीतू राय को यह पुरस्कार दिया गया था। 

एशियाई खेलों में जोरदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को भी मौका 

खेल मंत्रालय के इस साल के खेल पुरस्कारों में राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में जोरदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को भी मौका देने के फैसले के बाद अब इन पुरस्कारों के लिए होड़ रोचक हो गई है। मंत्रालय ने इस पुरस्कार के आवेदन के लिए 12 सितंबर तक की समय सीमा तय की थी जिसके बाद टेबल टेनिस खिलाडी मणिका बत्र और टेनिस स्टार रोहन बोपन्ना ने अपना दावा पेश कर दिया है।

  • राष्ट्रमंडल खेलों में दो स्वर्ण सहित चार पदक जीतने वाली मणिका ने एशियाड में भी ऐतिहासिक कांस्य पदक हासिल किया था।
  • इससे पहले टेबल टेनिस फेडरेशन ने उनका नाम अर्जुन अवॉर्ड के लिए भेजा था।
  • एशियाड में युगल स्वर्ण पदक जीतने वाले बोपन्ना की फडरेशन ने भी उनका दावा पेश कर दिया है।
  • इस बार BCCI ने भी खेल रत्न के लिए तीनों फॉर्मेट के भारतीय कप्तान विराट कोहली के नाम की सिफारिश की है। हालांकि इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज 1-4 से हारने के बाद विराट के दावे पर असर पड़ सकता है।
  • खेल रत्न की होड़ में भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा सबसे प्रबल दावेदार हैं।
  • नीरज एशियाई खेलों में भारतीय दल के ध्वजवाहक रहे थे और उन्होंने राष्ट्रमंडल तथा एशियाई खेलों दोनों में स्वर्ण पदक हासिल किये हैं।
  • राष्ट्रमंडल तथा एशियाई खेलों दोनों में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहलवान बजरंग पुनिया और विनेश फोगाट भी खेल रत्न पुरस्कार की दौड़ में शामिल हैं।
  • भारतीय कुश्ती संघ (डब्ल्यूएफआई) में इन दोनों पहलवानों के नाम खेल रत्न के लिए भेजे हैं।
  • विश्व चैंपियनशिप और राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली महिला भारोत्तोलक मीराबाई चानू का खेल रत्न के लिए दावा मजबूत माना जा रहा है।
किदाम्बी श्रीकांत भी खेल रत्न की होड़ में शामिल

2017 में चार सुपर सीरीज खिताब जीतने वाले बैडमिंटन स्टार किदाम्बी श्रीकांत भी खेल रत्न की होड़ में शामिल हैं। विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाले डबल ट्रैप निशानेबाज अंकुर मित्तल भी खेल रत्न के दावेदारों में शामिल हैं। अंकुर का नाम निशानेबाजी फेडरेशन ने भेजा है। अंकुर ने तीन वल्र्ड कप में पदक जीतकर इतिहास रचा है। इसके अलावा राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य और विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण उनके नाम है। खेल रत्न के लिए लगभग 15 नाम होड़ में हैं और समिति तथा मंत्रलय के लिए चयन वास्तव में किसी कशमकश से कम नहीं होगा।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image