CHINA :- हिरासत में लिए गए सैकड़ों उइगर मुसलमान, विचार परिवर्तन कैम्प्स मे भेजा

0
11
China Detaining Muslims

राज एक्सप्रेस। चीन के उइगर मुस्लमान के खिलाफ आये दिन खबर सुनने को आती है| इस बार चीन ने विचार परिवर्तन कैम्प्स के नाम पर सेकड़ो उइगर मुसलमानो को कैद (China Detaining Muslims) कर लिया है| चीन पहले से ही उइगर मुसलमानो को लेकर चिंतित रहता है | वह उइगर मुसलमानो को अपने लिए एक खतरा मानता है और हमेशा यह चीनी सरकार के निशाने पर होते है | इन पर निगरानी रखने के नाम पर चीनी साकार सैकड़ों उइगर मुसलमानो को बदलाव के नाम पर ट्रेनिंग कैंप लेजा रहा है | चीन मे मुसलमानो की आबादी लगभग दो करोड़ है |

माना जा रहा है कि माओ के शासनकाल के बाद विचार परिवर्तन और चीन की सरकार के प्रति वफादारी के लिए यह विचार परिवर्तन कैंप आयोजित किया जा रहा है | एक बिल्डिंग के बाहर लाल बोर्ड पर बड़े-बड़े अक्षरों में चीनी भाषा सीखने, कानून की पढ़ाई करने और जॉब प्रशिक्षण के लिए तैयार होने के निर्देश लिखे गए है |

उइगर कौन हैं ?

आज का शिनजियांग पूर्व का पूर्वी तुकिस्‍तान था | उइगर मुस्लिम चीन के पश्चिमी शिनजियांग प्रांत में रहते हैं | इस प्रांत की सीमा मंगोलिया और रूस सहित आठ देशों के साथ मिलती है | तुर्क मूल के उइगर मुसलमानों की इस क्षेत्र में आबादी एक करोड़ से ऊपर है | यहां के उइगर समुदाय को कम करने के लिए चीनी सरकार ने यहां पर हॉन समुदाय के लोगों को बसाना शुरू किया था| चीन की सरकार ने यहां के ऊंचे पदों पर भी हॉन समुदाय के लगों को बिठा रखा है| इसका नतीजा अब सामने आने लगा है |

बिल्डिंग के अंदर क्लास होती हैं:-
CHINA :- हिरासत मे लिए गए सेकड़ो उइगर मुसलमान, विचार परिवर्तन कैम्प्स मे भेजा

इन क्लास में मुसलमानो से चीन का गीत गवाना और चीन की राजनैतिक विचारधार पर भाषण दिए जाते हैं | मुस्लिमों को अपने ही समुदाय के लिए आलोचनात्मक लेख लिखने के लिए कहा जाता है |  इन क्लास से निकले लोगों ने बताया कि कार्यक्रम का उद्देश्य है किसी भी तरह से इस्लाम के लिए विश्वास को खत्म किया जा सके |

चश्मदित ने बताया, पुलिस ने मुझे उस वक्त हिरासत में लिया था, जब मैं कुरान पढ़ रहा था | मुझे कैंप में ले जाया गया, जहां मेरे साथ 30 और लोग थे | हमसे कहा गया कि हम अपनी पुरानी जिंदगी और मान्यताओं को पूरी तरह से भूल जाएं | यह ट्रेनिंग कैंप ऐसी जगह नहीं है जहां आतंकवादी विचारों को खत्म किया जाए, यह कैंप ऐसी जगह थी जहां जबरन अपनी उइगर पहचान को खत्म करना होता है |

 उइगर मुसलमानों पर आरोप:-

अमेरिका ने ‘ईस्ट तुर्किस्‍ताना इस्लामिक मूवमेंट’ को उइगरों का एक अलगावादी समूह कहा है | लेकिन वह ये भी मानता है कि यह संगठन आतंकी घटनाओं को अंजाम नहीं दे सकता है | 2014 में एक संघर्ष के बाद चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने उइगर मुसलमानों के खिलाफ बहुत कठोर कदम उठाए | उनके अपराध को चीन में एक तरह से माफ नहीं किया जा सकने वाला कानून है और उन पर पाबंदी बहुत बढ़ा दी गई।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image