आइये आज के इस आर्टिकल में हम आपको उत्तराखंड के बहुत ही खूबसूरत शहर ” मसूरी ” (Mussoorie) के बारे में बताते है, जो अपनी खूबसूरती के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है।

” मसूरी “ (Mussoorie) उत्तराखंड की प्रकृति की गोद में बसा हुआ अत्यंत मनोरम एवं सुन्दर शहर है। यह भारत के उत्तराखण्ड राज्य का एक रमणीय स्थल है, जिसे पहाड़ों की रानी भी कहा जाता है। अगर आप भी पहाड़ों की रानी का दीदार करना चाहते है, तो जल्द ही मसूरी चले जाइये। पहाड़ों की रानी ” मसूरी “ में हर साल लाखों सैलानी घूमने के लिये आते हैं। मसूरी उन जगहों में से एक है, जो पर्यटकों को बार-बार घूमने-फिरने के लिए आकर्षित करती हैं। यह पर्यटक स्थल सौंदर्य, शिक्षा, पर्यटन व व्यावसायिक गतिविधियों के लिए प्रसिद्ध है।

मसूरी (Mussoorie) की औसत ऊंचाई समुद्र तल से 2005 मी. यानि (6600 फ़ीट) है।

यह शहर ” Mussoorie ” चारों ओऱ से हिमालय से घिरा हुआ है। हिमालय की ऊंचाइयों से टकराते नीले अम्बर, चारों और हरी चादर ओढ़े घाटियां, रंग बिरंगे फूल, विशाल वृक्ष और उन वृक्षों की शाम की ठंडी-ठंडी हवाएँ जो किसी भी प्राकृतिक प्रेमी को दीवाना बना देती है। पर्यटकों को यह जगह बेहद ही मनमोहक लगती है। अब हम आपको मसूरी की कुछ जगहों के बारे में बताते है जहाँ आप घूमने के लिए जा सकते है। आप मसूरी घूमने आएं है, तो इन जगहों पर जाना न भूलें।

” Mussoorie ” के पर्यटन स्थल-

गन हिल:-

प्रकृति की गोद में बसे मसूरी शहर में स्थित गन हिल दूसरी सबसे ऊँची चोटी है। इस पहाड़ी से हिमालय की पहाडियों के शानदार नज़ारे मन को बहुत आकर्षित करते हैं, साथ ही साथ यहां एक मॉल भी है जो मसूरी का प्रसिद्ध शॉपिंग सेंटर है। गन हिल से हिमालय पर्वत शृंखला अर्थात् बंदरपंच, श्रीकांता, पिठवाड़ा और गंगोत्री समूह आदि के सुंदर दृश्य देखे जा सकते हैं।

म्युनिसिपल गार्डन+तिब्बती मंदिर :-

मसूरी में म्युनिसिपल गार्डन है और इस गार्डन में मानव निर्मित एक छोटा सा झरना और झील है। तिब्बती मंदिर अपने थांगका चित्रों और शाक्यमुनि बुद्ध की सुंदर प्रतिमा के लिए प्रसिद्ध है। यह मंदिर निश्चय ही पर्यटकों का मन मोह लेता है, यह बोध धर्म का एक मंदिर है, जिसे तिब्बती मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

चाइल्डर्स लॉज + कैमल बैक रोड :-

चाइल्डर्स लॉज लाल टिब्बा के निकट मसूरी की सबसे ऊंची चोटी है। यहां आप घोड़े पर बैठकर या पैदल जा सकते है और चाइल्डर्स लॉज से बर्फ से ढके पर्वतों के रोमांचक दृश्यों का भरपूर मजा ले सकते है। मसूरी के पास कैमल बैक रोड पर पैदल चलना या घुड़सवारी करना अच्छा लगता है। यहां से हिमालय में सूर्यास्त का दृश्य बहुत ही सुंदर दिखाई देता है।

कैम्पटी फाल + झड़ीपानी फाल + भट्टा फाल :-

यह झरना यमुनोत्री रोड पर मसूरी से 15 कि॰मी॰ दूर 4500 फुट की ऊंचाई पर स्थित है। ये सबसे बड़ा और खूबसूरत झरना है जो चारो ओर से ऊंचे पहाड़ों से घिरा हुआ है, यह मसूरी घाटी का सबसे सुंदर जलप्रपात है एवं पर्यटकों के लिए खासा आकर्षण का केंद्र है। झड़ीपानी फाल मसूरी से 8.5 कि॰मी॰ की दुरी पर स्थित है। मसूरी में स्थित भट्टा फॉल अपने प्राकृतिक सौंदर्य से पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। यहां कार, बस और बाइक द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है।

नाग देवता मंदिर :-

नाग देवता मंदिर एक प्रसिद्ध धार्मिक केंद्र है, जो मसूरी से 6 किमी. की दूरी पर कार्ट मेकेंजी रोड पर स्थित है। इस मंदिर में हर साल भारी संख्यां में श्रद्धालु हिंदू नाग देवता की पूजा करने आते हैं। यहां से मसूरी के साथ-साथ दून-घाटी का सुंदर दृश्य भी दिखाई देता है।

मसूरी झील :-

यह मसूरी से लगभग 6 k.m. दूर है जिसे मसूरी-देहरादून रोड पर नया ” पिकनिक स्पॉट ” बनाया गया है। एक खास बात ओर आपको बता दें कि यहां पर पैंडल बोट भी उपलब्ध हैं, जिसमें आपको घूमने का मौका मिलेगा।

ज्वालाजी मंदिर (बेनोग हिल) :-

यह मंदिर बेनोग हिल की चोटी पर बना है और यहां माता दुर्गा की पूजा होती है। मसूरी से 9 कि॰मी॰ पश्चिम में 2104 मी. की ऊंचाई पर ज्वालाजी मंदिर स्थित है। इसके चारों ओर घना जंगल है, जहां से हिमालय की चोटियों, दून घाटी और यमुना घाटी के सुंदर-सुंदर दृश्यों का नजारा देखा जा सकता है।

” Mussoorie ”  घूमने का सर्वश्रेष्ठ मौसम-

यहाँ साल के हर महीने में मौसम बेहद खुशनुमा रहता है, आप साल के किसी भी माह में कभी भी मसूरी घूमने का आनंद उठा सकते हैं। यह पर्यटक स्थल ” Mussoorie” हर मौसम में सुंदर नजर आता है, हालांकि मसूरी घूमने का बेस्ट टाइम मार्च से जून और सितंबर से नवंबर के बीच होता है।

कैसे जाएं मसूरी-

वैसे तो मसूरी पहुंचने के बहुत से साधन है जैसे – ट्रैन, हवाई जहाज़, कार, बस, इत्यादि। मंसूरी से सबसे पास का रेलवे स्टेशन ‘ देहरादून रेलवे स्टेशन ‘ है यह भारत के प्रमुख नगरों से रेलमार्ग द्वारा जुड़ा है। वैसे दिल्ली के अतिरिक्त सहारनपुर, वाराणसी, हावड़ा व अमृतसर से भी यहां के लिए ट्रेनें उपलब्ध हैं। आगे का सफर तय करने के लिए आप टैक्सी या बस का उपयोग कर सकते हैं। इसके बाद देहरादून का जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है, जो मसूरी से करीब 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

शॉपिंग :- 

उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटन स्थल मसूरी में आप गांधी चौक, कुलरी बाजार व लैन्डलयोर बाजार से छडि़या, हाथ के बुने आकर्षक डिजाइनों के स्वेेटर व कार्डिगन खरीद सकते हैं। यहां आने पर ट्रेक हिमालयन ऑफिस के पास में स्थित दुकानों से एंटिक-एंटिक सामानों को खरीदना न भूले।

मसूरी का इतिहास जानने के लिए यहां क्लिक करें

5/5 (3)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image