राष्ट्रपति चुनाव : PM मोदी, शाह, मनमोहन, सोनिया सहित विधान सभाओं में भी सदस्यों ने अपने वोट डाले

0
1

नई दिल्ली। देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद राष्ट्रपति के चुनाव के लिए संसद और सभी 31 विधानसभाओं में निर्वाचक मंडल के सदस्य बड़ी संख्या में आज सुबह से ही मतदान कर रहे हैं और अब तक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह तथा कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सहित बड़ी संख्या में सदस्यों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया है।
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी भी पहले मत डालने वाले प्रमुख नेताओं में शामिल हैं। इसके अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंह, कृषि मंत्री राधामोहन सिंह, विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद, खाद्य मंत्री रामविलास पासवान, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव और बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने भी सुबह मतदान किया। संसद में सुबह दस बजे शुरूआत में ही मतदान करने वाले सदस्यों में श्री मोदी प्रमुख रहे। वह पौने दस बजे ही संसद भवन पहुंच गये थे जिसके बाद वह संसद भवन के प्रथम तल पर कमरा नम्बर 62 में जहां मतदान केन्द्र बनाया गया है। उनके साथ श्री अमित शाह भी थे। श्री मोदी वहां लगभग पांच मिनट तक रहे और मतदान करने के बाद नीचे आ गये।
इसके बाद केन्द्रीय मंत्रियों वेंकैया नायडू, नितिन गडकरी, थावरचंद गहलोत, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सुब्रमण्यम स्वामी, हेमा मालिनी, किरण खेर, कांग्रेस के ए के एंटनी, आनन्द शर्मा, राजबब्बर, समाजवादी पार्टी की नेता डिम्पल यादव, माकपा के मोहम्मद सलीम, एम बी राजेश, ए सम्पत ने भी मतदान किया। संसद भवन परिसर में राष्ट्रपति चुनाव के मतदान के मद्देनजर सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किये गये हैं। सुरक्षा के उद्देश्य से कुछ जगहों पर अलग से बेरिकेड लगाये गये हैं। सदस्यों को मतदान केन्द्र तक पहुंचने में किसी तरह की दिक्कत न हो इसके लिए विशेष इंतजाम किये गये हैं। मतदान के चलते आज संसद भवन में काफी गहमागहमी नजर आई और सदस्यों के बीच इसे लेकर काफी उत्साह भी दिखाई दिया। संसद की कार्यवाही शुरू होने से पहले संसद के गलियारे में बड़ी संख्या में सांसद और मंत्री राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान करने आ गए थे और मतदान शुरू होने के बाद मतदान कक्ष में उनका तांता लगा रहा। संसद की कार्यवाही कल तक स्थगित होने के बाद और भी सांसद मतदान करने के लिए कमरा नम्बर 62 में आ गए। दोपहर होते-होते लगभग 80 प्रतिशत मतदान हो चुका था और उसके बाद संसद के गलियारे में सदस्यों की आवाजाही और गहमागहमी समाप्त होने लगी।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान प्रारम्भ, पीएम मोदी ने डाला वोट

नई दिल्ली। देश के नये राष्ट्रपति के चुनाव के लिए आज सुबह 10 बजे से मतदान शुरू हो गया। शुरुआत में मतदान करने वालों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल है ,जिन्होंने संसद भवन में मतदान किया। मतदान संसद भवन तथा 31 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों की विधानसभा भवनों में हो रहा है जो शाम पांच बजे तक चलेगा। सवायत्त शासन मंत्री श्रीचन्द कृपलानी तथा कांग्रेस के गोविन्द सिंह डोटासरा ने अपना-अपना वोट डाला तथा 1 घंटे के दौरान कांग्रेंस 21 एवं भाजपा के 19 विधायकों ने अपने मत का उपयोग किया। आज सुबह 10 बजे से शुरू होकर मतदान प्रक्रिया शाम 5 बजे तक चलेगी। विधानसभा के 200 सदस्यों में से 199 ही यहां मतदान करेंगे तथा कांग्रेस के अशोक गहलोत अपना मत गुजरात में डालेंगे। उनके अलावा भाजपा और अन्य सभी राजनीतिक दलों के सांसद भी वोट डालने के लिए पहुँच रहे है, तथा अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। नए राष्ट्रपति को लेकर आज होने वाले इस चुनाव में बीजेपी नीत एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का विपक्षी उम्मीदवार मीरा कुमार से मुकाबला है। इस प्रक्रिया में जनता सीधे अपने राष्ट्रपति का नहीं चुनती, बल्कि उसके द्वारा चुने गए विधायक और सांसद मिलकर राष्ट्रपति का चुनाव करते हैं।

20 जुलाई को वोटों की गिनती होगी। मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 25 जुलाई को पूरा हो रहा है। राष्ट्रपति चुनाव में देश के सभी विधायक और सांसद मतदान करते हैं। संसद के दोनों सदनों में जहां सांसदों की वोटिंग की व्यवस्था की गई, वहीं राज्य विधानसभाओं में वहां के निर्वाचित सदस्य वोट डालेंगे। संसद भवन के कमरा संख्या-62 में मतदान केंद्र बनाया गया है जबकि मप्र विधानसभा में चुनाव के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था काफी सख्त कर दी गई है। मतदान विधानसभा परिसर स्थित समिति कक्ष क्रमांक-2 में होगा। इसमें 228 विधायक भाग लेंगे।

बैलेट पेपर हरे और गुलाबी रंग के होंगे:- इस चुनाव में हरे और गुलाबी रंग के दो बैलेट पेपर इस्तेमाल किए जाएंगे, जहां हरे रंग का बैलेट सांसदों, जबकि गुलाबी बैलेट पेपर विधायकों के लिए होगा। इस चुनाव में सांसद और विधायक अपने पेन का इस्तेमाल नहीं, बल्कि खास तौर से डिजाइन किए गए बैंगनी रंग के पेन का इस्तेमाल करेंगे। निर्वाचन आयोग ने साफ कहा है कि अगर किसी ने दूसरे पेन से वोट डाला, तो उसे अवैध करार दिया जाएगा।
बैलेट बॉक्स का किराया यात्री जैसा:- चुनाव आयोग ने सभी राज्यों से मत पेटी या बैलेट बॉक्स को दिल्ली लाने का भी खास इंतजाम किया है। ये बैलेट बॉक्स संबंधित राज्य के रिटर्निग अफसर और सुरक्षा के बीच हवाई जहाज की सीट पर रख कर दिल्ली लाए जाएंगे। दिलचस्प बात यह है कि एक यात्री की तरह बैलेट बॉक्स के लिए भी हवाई जहाज का टिकट लिया जाता है। मतदान के लिए देशभर में 32 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here