शशिकला को जेल में मिल रहीं सुविधाओं का खुलासा करने वाली DIG डी रूपा का हुआ ट्रांसफर

0
21

नई दिल्ली। बेंगलुरु सेंट्रल जेल में एआइएडीएमके नेता शशिकला को मिलने वाली सुविधा का खुलासा करने पर कर्नाटक सरकार ने DIG डी रूपा का ट्रांसफर यातायात विभाग में कर दिया। अपने तबादले के बारे में उनका कहना है कि अभी तक नोटिस नहीं मिली है। नोटिस मिलने पर वो अपनी प्रतिक्रिया देंगी। डीआइजी डी रूपा के इस तबादले पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने तीखी प्रतिक्रिया दी। महिला आयोग की सदस्य निर्मला सावंत ने कहा कि सिद्धरमैया सरकार के इस फैसले से गलत संदेश गया है। वहीं कर्नाटक सरकार ने इसे रूटीन तबादला बताया।
रूपा ने अपनी रिपोर्ट में यह भी बताया था कि शशिकला को जेल में तमाम सुविधाएं 2 करोड़ रुपये घूस देने के बाद मिल रहीं हैं। उनके खुलासे के बाद डीआई सत्यनारायण राव सवालों के घेरे में आ गये थे। रूपा के खुलासे के बाद CM सिद्धरमैया ने जांच के आदेश दिये थे लेकिन बाद में उन्होंने कहा था कि सीधे मीडिया से बात करना सही कदम नहीं था इसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। हालांकि रूपा ने इस बात से इनकार किया है कि उन्होंने 10 जुलाई को जेल का निरीक्षण करने के बाद जो रिपोर्ट बनायी उसे मीडिया में लीक किया। हालांकि शशिकला के बारे में हुए खुलासे के बाद राव का ट्रांसफर कर दिया गया था, जबकि उन्होंने इस बात से इनकार किया कि शशिकला को किसी तरह की विशेष सुविधा दी जा रही है, उन्होंने सभी आरोपों को निराधार बताया था। रूपा ने अपनी रिपोर्ट में यह भी बताया था कि स्टांप पेपर फ्राड मामले में जेल में बंद अब्दुल करीम तेलगी को भी जेल में स्पेशल ट्रीटमेंट दिया जा रहा है।
डी रूपा भारतीय पुलिस सेवा की अधिकारी हैं। वे कर्नाटक के दावनगेरे की रहने वाली हैं। उन्होंने विज्ञान में पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री ली है।उनके पति मुनीश मौदगिल कर्नाटक में सिविल सेवा के अधिकारी हैं। अपने 17 साल के सेवाकाल में रूपा को हमेशा लो प्रोफाइल की ही पोस्टिंग मिली। रूपा के बारे में कहा जाता है कि वह मीडिया का प्रयोग ज्यादा करती हैं। वे ट्‌वीट करती हैं, अखबारों में कॉलम लिखती हैं।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here