निठारी कांड के 9वें मामले में सुरेंद्र कोली और मोनिंदर सिंह पंधेर दोषी करार, कल सुनाई जाएगी सजा

0
19

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर जिले में 2006 के बहुचर्चित निठारी कांड के 9वें मामले में आज केन्द्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की यहां स्थित विशेष अदालत ने सुरेंद्र कोली और मोनिंदर सिंह पंधेर को दोषी करार दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार निठारी मामले में सुनवाई के दौरान अंजलि सरकार पुत्री अरुण सरकार के साथ दुष्कर्म और हत्या मामले की सुनवाई करते हुए सीबीआई कोर्ट ने दोनों को दोषी करार दिया। अभी तक इस केस में आठ मामलों में सुनवाई हो चुकी है।

बता दें कि निठारी कांड के नौंवे मामले में फैसले के लिए सात दिसंबर की तारीख तय की गई थी। मह‌िला के साथ दुष्कर्म और उसकी हत्या के इस मामले में अदालत शुक्रवार को फैसला सुनाएगी। इससे पहले निठारी कांड के 9वें मामले में बुधवार को सीबीआई की विशेष अदालत में बहस पूरी हो गई थी। निठारी कांड के दोनों आरोपी मोनिंदर सिंह पंधेर और सुरेंद्र कोली को कड़ी सुरक्षा में डासना जेल से CBI के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने इस मामले में अंतिम बहस के लिए मंगलवार और बुधवार का समय दिया था। बुधवार को सुरेंद्र कोली ने खुद बहस में कहा कि अरुण सरकार ने CBI के कहने पर गवाही दी है। इसके अलावा उसे कुछ नहीं कहना। मोनिंदर सिंह पंधेर के अधिवक्ता ने भी अपना पक्ष रखा। अब बृहस्पतिवार को इस मामले में अदालत अपना फैसला सुना सकती है।

ये है पूरा मामला:- दरअसल, 12 वर्ष पहले 20 जून, 2005 को नोएडा के निठारी एरिया से 8 साल की एक बच्ची अचानक लापता हो गई थी। इसके बाद से एरिया में लगातार बच्चे गायब होने लगे थे। लगभग एक वर्ष लगातार बच्‍चों के गायब होने का यह सिलसिला चलता रहा और करीब दर्जनभर बच्चे लापता हो गए। मामला राष्ट्रीय स्तर पर आने के बाद पुलिस की अलग-अलग टीमों ने एनसीआर सहित देश के कई इलाकों में सर्च ऑपरेशन चलाया। 7 मई 2006 को 21 साल की एक और लड़की जब लापता हुई तो पुलिस को अहम रहस्य उसके मोबाइल से मिला। पुलिस ने उस नंबर की कॉल डिटेल निकलवाई। उसके बाद जब उसमे से एक नंबर पर फोन किया गया तो वह मनिंदर सिंह पंधेर का था। उसके बाद पुलिस ने इस मामले में पंधेर और उसके नौकर कोली को आरोपी बनाया।

इसके बाद ही पूरे निठारी मामले के राज का खुलासा हुआ था, जिसमें 15 से ज्यादा बच्चियों और लड़कियों का रेप किया गया था। रेप के बाद उन्हें मारकर पंढेर के घर में दफन कर दिया गया था।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here