शरद यादव का दावा उनके नेतृत्व वाला JDU ही असली

0
14

नई दिल्ली। जनता दल (यूनाइटेड) JDU के बागी नेता शरद यादव ने आज दावा किया कि उनके नेतृत्व वाला जदयू ही असली है और आने वाले समय में यह सही साबित हो जायेगा। श्री यादव ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चुनाव आयोग में पार्टी के चुनाव चिन्ह आवंटित करने को लेकर मामला अभी चल रहा है और इस संबंध में वकील अधिक जानकारी देंगे। उन्होंने कहा कि वह नीतियों और सिद्धांतों की लड़ाई लड़ रहे हैं और इसे आगे भी जारी रखेंगे। श्री नीतीश कुमार का नाम लिये बिना उन्होंने कहा कि बिहार में उनके सहयोगियों ने रास्ता बदला है और राज्य के 11 करोड़ लोगों का विश्वास तोड़ा है।
जदयू नेता ने कहा कि उन्होंने सिद्धांन्तों से कभी समझौता नहीं किया। उन्होंने हवाला मामले में नाम आने पर तथा आपातकाल के दौरान लोकसभा का कार्यकाल पांच वर्ष से बढ़ाकर 6 साल किये जाने के विरोध में लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया था। जीवनभर वह भष्टाचार के खिलाफ लड़ते रहे और कोयला घोटाला, कामवेल्थ गेम घोटाला और टू जी स्पेक्ट्रम घोटाले के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं।
वहीं दूसरी ओर राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि श्री यादव की अर्जी पर आयोग ने जल्दबाजी में फैसला लिया है। श्री यादव आज भी जनादेश के साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा कि श्री यादव के पास उच्चतम न्यायालय में अपील करने का विकल्प खुला हुआ है। श्री यादव के राजद में आने की संभावनाओं पर उन्होंने कहा कि उनके जैसे पुराने समाजवादी नेता को भटकने नहीं दिया जायेगा। वहीं कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने चुनाव आयोग में श्री यादव की दावेदारी खारिज होने पर कहा कि आयोग के फैसले पर सवाल नहीं उठाया जा सकता। श्री यादव को यदि आयोग का फैसला मंजूर नहीं हैं तो वह न्यायालय का दरवाजा खटखटाने के लिए स्वतंत्र हैं।
इसी तरह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा कि कभी भ्रष्टाचार के खिलाफ रोल मॉडल के रुप में श्री यादव की गिनती होती थी। श्री यादव ने नैतिकता के आधार पर केन्द्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने का काम किया था, लेकिन आज वह भ्रष्टाचारियों के साथ खड़े हो गये हैं। उल्लेखनीय है कि बिहार में महागठबंधन टूटने के बाद श्री यादव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से नाराज चल रहे थे और इसी को लेकर आयोग में जद यू के चुनाव चिन्ह पर अपना दावा भी पेश किया था।
शरद यादव राज्यसभा से इस्तीफा दे : आरसीपी
जनता दल यूनाइटेड (जदयू) संसदीय दल के नेता आर सी पी सिंह ने चुनाव आयोग में बागी नेता शरद यादव का दावा खारिज होने पर उनसे (श्री यादव) राज्यसभा से इस्तीफा देने की मांग की है। श्री सिंह ने आज यहां कहा कि श्री यादव की झूठ अब लोगों के सामने आ गयी है। श्री यादव ने चुनाव आयोग में दावेदारी की थी जिसे आयोग ने खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि श्री यादव को अब राज्यसभा से तत्काल इस्तीफा कर देना चाहिए।
वहीं पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं विधान परिषद के सदस्य नीरज कुमार ने श्री यादव का दावा खारिज होने पर कहा कि चुनाव आयोग ने श्री यादव को सच्चाई बता दी है। श्री यादव को अब राष्ट्रीय जनता दल (राजद) में अपने मिलन की तिथि तय कर लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि श्री यादव को अब राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव और तेज प्रताप यादव जिंदाबाद बोलने की आदत बना लेनी चाहिए।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here