फिलीपींस में PM नरेंद्र मोदी ने शिंजो आबे और मैल्कम टर्नबुल से की बातचीत

0
19

मनीला। आसियान तथा पूर्वी एशिया सम्मेलन में भाग लेने फिलीपींस यात्रा पर आये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे तथा ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मैल्कम टर्नबुल से बातचीत की और द्विपक्षीय संबंधों को नई अधिकता दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर पोस्ट किया है कि आपसे मिलकर खुशी हुयी। आज की हम लोगों की बातचीत से भारत तथा ऑस्ट्रेलिया की मित्रता को नयी ऊंचाइयां मिलेंगी। इससे पहले मैल्कम टर्नबुल ने आज सुबह ट्विटर पर पोस्ट किया था, आज मनीला में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ होने वाली वार्ता आर्थिक सहयोग बढ़ाने, सुरक्षा तथा आतंकवाद के मुद्दे पर केंद्रित रहेगी। जापान तथा ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न से भी मुलाकात की। इस बात की जानकारी ट्विटर पर देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा है कि हम लोगों ने भारत तथा न्यूजीलैंड के बीच आर्थिक एवं सांस्कृतिक सहयोग पर चर्चा की। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने ब्रुनेई के सुल्तान हस्सानल बोल्किया तथा वियतनाम के नेताओं से भी मुलाकात की।
विदेश मंत्रालय के प्रतिनिधि रवीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा शिंजो आबे की तस्वीर ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि दोनों नेताओं ने विशेष रणनीतिक तथा वैश्विक सहयोग बढ़ाने को लेकर व्यापक बातचीत की है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिंजो आबे के साथ हुई मुलाकात को लेकर ट्विटर पर लिखा है कि मेरे दोस्त शिंजो आबे तथा मेरी महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुयी। हमने भारत-जापान संबंधों के विभिन्न पहलुओं की समीक्षा की और हमने आर्थिक तथा आपसी सहयोग को बढ़ाने के तरीके पर बातचीत की है।
विदेश मंत्रालय के प्रतिनिधि रवीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा शिंजो आबे की तस्वीर ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि दोनों नेताओं ने विशेष रणनीतिक तथा वैश्विक सहयोग को बढ़ाने को लेकर व्यापक बातचीत की है।
रविश कुमार ने एक अन्य ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा ब्रुनेई के सुल्तान की तस्वीर को पोस्ट करते हुए बताया है कि दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय साझेदारी के विस्तार विशेष रूप से व्यापार और निवेश, नवीकरणीय ऊर्जा, संस्कृति और आपसी संपर्क को बढ़ाने को लेकर बातचीत की है। विदेश मंत्रालय के प्रतिनिधि ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा वियतनाम के प्रधानमंत्री गुयेन शुआन फुक के बीच हुयी बातचीत के बारे में बताया है कि दोनों नेताओं ने आपसी संबंधों को प्रगाढ़ करने को लेकर बातचीत की है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी प्रधानमंत्री के साथ की गहन मंत्रणा:-
व्यापक प्रशांत क्षेत्र में चीनी प्रभुत्व का मुकाबला करने के लिये भारत ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और जापान के चतुर्पक्षीय गठजोड़ के आकार लेने के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यहां चीन के प्रधानमंत्री ली के कियांग के साथ द्विपक्षीय बैठक की। विदेश मंत्रालय के प्रतिनिधि रवीश कुमार ने यहां कहा है कि दोनों नेताओं के बीच पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन के इतर मुलाकात में गहन विचार मंथन हुआ। उल्लेखनीय है कि अमेरिका की तरह भारत भी साऊथ चीन सागर में नौवहन और संसाधनों तक पहुंच को लेकर अंतर्राष्ट्रीय कानून एवं 1982 के संयुक्त राष्ट्र संधि के अनुसार स्वतंत्रता का समर्थन कर रहा है जबकि चीन ने साऊथ चीन सागर पर अपना दावा किया है जिसका आसियान देशों के सदस्य -वियतनाम, फिलीपीन्स और ब्रुनेई कड़ा विरोध कर रहे हैं।
आसियान शिखर सम्मेलन के आज जारी होने वाले घोषणापत्र में इस बारे में उल्लेख किया जा सकता है। वर्ष 1997 में आसियान शिखर सम्मेलन की मेज़बानी करते हुए फिलीपीन्स ने आचार संहिता का प्रस्ताव किया था जो 2002 में दक्षिण चीन सागर में पक्षकारों के आचार संबंधी गैरबाध्यकारी घोषणापत्र के रूप में स्वीकार किया गया। यह दस्तावेज गैरबाध्यकारी होने के कारण चीन ने इसे कोई तवज्जो नहीं दी और छोटे-छोटे द्वीपों पर कब्ज़ा करना और मानव निर्मित द्वीप का निर्माण जारी रखा जिन्हें सैन्य चौकियों में बदल दिया गया।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here