चोटी काटने की घटनायें महिलाओं की मर्यादा क्षीण करने का प्रयास: महबूबा

0
23

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने राज्य में चोटी काटने की घटनाओं को महिलाओं की मर्यादा क्षीण करने का प्रयास करार देते हुये आज कहा कि राज्य सरकार इन घटनाओं में संलिप्त तत्वों का पता लगाने के लिए ठोस कदम उठायेगी। सुश्री महबूबा ने माइक्रो-ब्लागिंग साइट ट्विटर पर लिखा, ‘राज्य में चोटी काटने की घटनायें महिलाओं की मर्यादा क्षीण करने और भय का वातावरण उत्पन्न करने का प्रयास है। सरकार इस तरह की घटनाओं में शामिल तत्वों का पता लगाने के लिये ठोस कदम उठायेगी।’
दूसरी तरफ पुलिस महानिदेशक एस पी वैद्य और अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इन घटनाओं के लिए जिम्मेदार तत्वों का पता लगाने के काम में पीड़ितों एवं उनके परिवारों तथा आम जनता के असहयोग के कारण इस मामले को सुलझाने में सफलता नहीं मिल रही है।
इस बीच, चोटी काटने की घटनाओं को सुलझाने में अधिकारियों की विफलता को लेकर घाटी के विभिन्न स्थानों में रोज ही प्रदर्शन और झड़प की रिपोर्ट मिल रही हैं। सुरक्षा बलों ने आज राजधानी श्रीनगर के नौगाम में प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर के लिए हवा में गोलियां चलायीं और आंसूगैस के गोले छोड़े।
कश्मीर घाटी में गुरुवार को सभी शिक्षण संस्थायें बंद रही। अलगाववादी संगठनों ने चोटी काटने की घटनाओं के विरोध में छात्रों से अपने शैक्षणिक संस्थानों में प्रदर्शन करने की अपील की है।
उल्लेखनीय है कि कश्मीर घाटी में अब तक चोटी काटने की करीब 57 घटनाओं की रिपोर्ट मिली हैं, जिसके कारण दहशत फैली हुई है। विभिन्न स्थानों की बहुत सी महिलाओं ने सुबह और शाम की सैर पर निकलना बंद कर दिया है।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here