दिल्ली के CM केजरीवाल की लकी कार चोरी की कहानी का राज

0
30

नई दिल्ली। CM kejriwal: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सुर्खियों में रहने वाली ‘मशहूर’ और लकी ब्लू वैगनआर कार बृहस्पतिवार को चोरी हुई। हैरानी की बात यह है कि कार दिल्ली सचिवालय के सामने से ही चोरी हुई थी। इस मामले में एफआईआर दर्ज कराई गई है। केजरीवाल मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार इसी कार से ऑफिस में पहुंचे थे। तभी से यह काफी सुर्खियों में रही। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल इस कार को आम आदमी कार कहते थे।
जानकारी मिली है कि यह कार केजरीवाल के एक प्रशंसक कुंदन शर्मा ने आम आदमी पार्टी को डोनेट की थी। कुंदन शर्मा लंदन में सॉफ्टवेयर इंजीनियर थे वो इंडिया अगेंस्ट करप्शन से जुड़े रहे, साथ ही अन्ना के आंदोलन के पक्ष में सोशल मीडिया पर लिखते थे। दरअसल, अन्ना के आंदोलन के पक्ष में वह सोशल मीडिया पर लिखते थे। कुंदन दिल्ली के द्वारका में रहते है यह गाड़ी उनकी पत्नी श्रद्धा शर्मा के नाम पर थी। कुंदन ने केजरीवाल और आप नेता दिलीप पांडे को ईमेल करके अपनी कार डोनेट करने की इच्छा जाहिर की। 3 जनवरी, 2013 को कुंदन के घर से गाड़ी पिक कर ली गई। आम आदमी पार्टी ने अपने लेटर-हेड पर गाड़ी स्वीकार करने का प्रमाण पत्र दिया। इस पर लिखा है कि इस कार का मालिकाना हक आम आदमी पार्टी के पास होगा और इस पर अब श्रद्धा शर्मा की कोई जवाबदेही या नियंत्रण नहीं रहेगा।
फिलहाल ‘DL 9CG-9769 कार का मालिकाना हक आम आदमी पार्टी के पास है। हालांकि फिलहाल ये कार आम आदमी पार्टी की युवा नेता वंदना के पास थी। फिलहाल यह कार पार्टी वर्कर वंदना ही इस्तेमाल करती थीं। वहीं, अप्रैल 2015 में आप की नीतियों से खफा होकर कुंदन ने वैगन आर वापस करने की मांग की थी। हालांकि, बाद में मामला शांत हो गया था और कार केजरीवाल के पास ही थी।

5/5 (1)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here