चीन में बाढ़ का कहर जारी 18 लोगों की मौत की आशंका

0
8

बीजिंग। चीन के उत्तरपूर्वी जिलिन प्रांत में बाढ़ की वजह से कम से कम 18 लोगों की मौत होने की आशंका है। जबकि इतनी ही संख्या में लोग लापता हैं। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी।
प्रांत के मध्य और पूर्वी हिस्सों में गुरुवार और शुक्रवार को भारी बारिश के कारण बाढ़ आ गई। शहर के बाढ़ नियंत्रण और सूखा राहत कार्यालय के अनुसार जिलिन शहर में भारी बाढ़ आई हुई है और 1,10,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।
सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, शहर में 32,360 सदस्यों के तलाश एवं बचाव दल को तैनात किया गया है। यह दल मलबा हटाने, पुलों की मरम्मत करने, घरों में फोन एवं बिजली सेवा बहाल करने के काम में जुटा है।
भारी बारिश की वजह से जंगल के साथ दरका पहाड़ का हिस्सा हाईवे से होता हुआ सीधे नदी में जा गिरा। लैंडस्लाइड की वजह से ना सिर्फ हाईवे बंद हो गया। बल्कि पहाड़ और पेड़ों ने नदी के रास्ते को भी ब्लॉक कर दिया। पहाड़ से खिसके पत्थरों और मिट्टी की चपेट में निचले इलाके के कई घर भी आ गए। पहाड़ के गिरने से पहाड़ की गोद में बने घर भी ताश के पत्तों की तरह गिरते चले गए, और उनका मलबा भी नदी में समा गया। लैंडस्लाइड के बाद जल्द ही मौके पर पहुंची रेस्क्यू टीम ने राहत औऱ बचाव का काम शुरू कर दिया। रेस्क्यू टीम ने लकड़ी और रस्सीयों के सहारे टेमप्रररी पुल तैयार किया। और मलबे में फंसे लोगों को निकालने का काम शुरू किया गया।

रेस्क्यू टीम के लिए सबसे बड़ी चुनौती थी पहाड़े की मिट्टी और मलबे से रुके नदी के रास्ते को फिर से सही करना। इसके लिए रेस्क्यू टीम ने मिट्टी और मलबे को काटकर उसे नदी के किनारों में तब्दील कर नदी को रास्ता दिया। बड़ी बड़ी चट्टानों और पेड़ों के गिरने से पहाड़ से गुज़रने वाले हाईवे को खासा नुकसान पहुंचा था। रास्ते के बंद होने कई गाड़ियां भी दोनों किनारों पर फंसी थी। रास्ते को फिर से शुरू करने के लिए रेस्कयू टीम ने बुल्डोजर की मदद से पत्थरों और मलबे को हटाया। सड़क से पेड़ों को हटाकर, सड़क को फिर से समतल किया गया। बल्लियों और पत्थरों के सहारे हाईवे के किनारों को भी दुरुस्त किया गया। बिजली विभाग के कर्मचारियों ने भी बाढ़ और भूस्खलन के बाद गिरे बिजली के खंभों की मरम्मत कर इलाके में बिजली सप्लाई को शुरू किया।

 

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here