घोड़ापछाड़ डैम में डूबने से तीन इंजीनियरिंग छात्रों की मौत

0
14

भोपाल। बिलखिरिया थाना इलाका स्थित घोड़ापछाड़ डैम में डूबने से सोमवार दोपहर एलएनसीटी कॉलेज प्रथम वर्ष के तीन इंजीनियरिंग छात्रों की मौत हो गई। तीनों अपने पांच अन्य साथियों के साथ एग्जाम के बाद मस्ती करने डैम गए थे। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से दो शव बरामद कर लिये हैं। एक की तलाश देर रात तक जारी थी। तीनों छात्रों के परिजनों को सूचना दे दी गई है।
सीएसपी रश्मि खरिया के अनुसार पीयूष रंजन (20) पटना, सोनू कुमार (20) बेगूसराय और अंकित शर्मा (19) नागदा उज्जैन समेत मृत्युंजय एवं अभय कुमार व तीन अन्य दोस्तों ने सोमवार सुबह एलएनसीटी कॉलेज में प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा दी थी। सभी का यह एटीकेटी का लास्ट एग्जाम था। सुबह साढ़े दस बजे आठों दोस्त एग्जाम देकर कॉलेज कैंपस में एकत्र हुए। कॉलेज बस पौने चार बजे उन्हें लेकर निकलती तब तक टाईम पास करने और मस्ती करने के इरादे से आठों दोस्तों ने घोड़ा पछाड़ डैम जाकर नहाने का फैसला लिया और पैदल ही निकल गए। वहां पहुंचने पर सभी ने पानी में जमकर मस्ती की। इस दौरान पीयूष, सोनू और अंकित की डूबने से मौत हो गई।
सब को आता था तैरना
मृतक के दोस्त अभय ने पुलिस को बताया कि हम सभी दोस्त तैरना जानते थे। कुछ देर डैम में नहाने के बाद हम सभी किनारे पर बैठे थे। इसी दौरान पीयूष और सोनू दोबारा पानी में गए और नहाने लगे। गहरे पानी में चले जाने से दोनों डूबने लगे जिन्हें बचाने के लिए अंकित ने पानी में छलांग लगा दी। जब अंकित भी डूबने लगा तो मृत्यूंजय भी दोस्तों को बचाने के लिए पानी में गया था।
बचा ली मृत्युंजय की जान
अभय ने यह भी बताया कि मृत्युंजय भी अंकित को बचाने के प्रयास में डूबने लगा था। तब उसने पानी में छलांग लगाई और हाथ देकर मृत्युंजय को डूबने से बचा लिया। हादसे के तत्काल बाद उसके दोस्तों ने डायल 100 को कॉल कर सूचना दी। सोनू और पीयूष दोनों एलएनसीटी के कोलार स्थित हॉस्टल में रहते थे। बाकी किराए के रूम लेकर अलग-अलग स्थानों पर रहते थे।
एनडीआरएफ की टीम ने बंद किया आपरेशन
देर रात तक नगर निगर के गोताखोरों के साथ एनडीआरएफ की टीम ने अंकित की बाडी को डैम में सर्च किया। इसके बाद सर्च आपरेशन को बंद कर दिया गया। मंगलवार को दोबारा अंकित की बॉडी की तलाश की जाएगी।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here