मध्यप्रदेश विधानसभा में सभी 228 विधायकों ने किया राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान

0
8

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा में आज सुबह देश के अगले राष्ट्रपति चुनाव के लिए शुरु हुए मतदान में दोपहर करीब तीन बजे तक सभी 228 विधायकों द्वारा मताधिकार का प्रयोग कर लिए जाने के साथ मतदान प्रक्रिया पूर्ण हो गयी है। प्रदेश के संसदीय कार्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा का निर्वाचन चुनाव आयोग की ओर से अयोग्य घोषित किए जाने के कारण और एक विधायक प्रेम सिंह का पिछले दिनों निधन होने के कारण प्रदेश की 230 सदस्यीय विधानसभा में से 228 विधायकों को अपने मताधिकार का उपयोग करना है।
इसके पहले सुबह 10 बजे मतदान शुरु होने पर सबसे पहले नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह मतदान करने पहुंचे। विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीतासरन शर्मा और उपाध्यक्ष डॉ राजेंद्र सिंह ने भी अपने मताधिकार का उपयोग किया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करीब साढ़े 10 बजे मतदान करने पहुंचे। राष्ट्रपति चुनाव के लिए यहां विधानसभा परिसर में बनाए गए मतदान केंद्र में कड़ी सुरक्षा के बीच विधायक कतारबद्ध होकर मतदान में हिस्सा लेते दिखाई दिए। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार मतदान सुबह दस बजे से प्रारंभ होकर शाम पांच बजे तक चलेगा। मतदान केंद्र विधानसभा परिसर में समिति कक्ष क्रमांक दो में बनाया गया है। सुरक्षा संबंधी आवश्यक उपाय भी किए गए हैं। मतदान केंद्र के भीतर मोबाइल फोन और अन्य उपकरणों के साथ मतदाताओं का प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है। मध्यप्रदेश विधानसभा 230 सदस्यीय है। विधायकों में मुख्य रूप से सत्तारूढ दल भारतीय जनता पार्टी के अलावा कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी के हैं। राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव में मुकाबला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के प्रत्याशी रामनाथ कोविंद और कांग्रेस समेत सत्रह विपक्षी दल की उम्मीदवार श्रीमती मीराकुमार के बीच है।
मध्यप्रदेश विधानसभा में केंद्रीय मंत्री अनिल दवे समेत अन्य दिवंगतों को अर्पित की गई श्रद्धांजलि
मध्यप्रदेश विधानसभा में आज मानसून सत्र के पहले दिन केंद्रीय राज्य मंत्री अनिल माधव दवे, विधायक प्रेम सिंह और मंदसौर गोलीकांड में मारे गए आंदोलनकारी किसानों समेत अन्य दिवंगतों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद सदन की कार्यवाही कल सुबह तक के लिए स्थगित कर दी गई। सदन की कार्यवाही शुरु होते ही अध्यक्ष डॉ सीतासरन शर्मा ने केंद्रीय राज्य मंत्री अनिल माधव दवे, विधानसभा सदस्य प्रेम सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ दासारि नारायण राव, पूर्व सांसद फतेहभानु सिंह चौहान, पूर्व विधायक सत्यनारायण अग्रवाल, नारायण सिंह पंवार, पंजाब के पूर्व पुलिस महानिदेशक केपीएस गिल, छह जून को मंदसौर में किसान आंदोलन के दौरान हुई हिंसा में मारे गए लोगों, सात जून को बालाघाट जिले के खैरी में पटाखा कारखाने में विस्फोट में मरने वालों और 10 जुलाई को कश्मीर केअनंतनाग में एक बस पर हुए आतंकवादी हमले में मारे गए अमरनाथ यात्रियों के निधन का उल्लेख करते हुए उन्हें सदन की ओर से श्रद्धांजलि अर्पित की।
विधानसभा उपाध्यक्ष डॉ राजेंद्र सिंह ने भी दिवंगतों को श्रद्धासुमन अर्पित किए।
सदन में मौजूद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वर्गीय दवे को‘मैन ऑफ आइडियाज’से संबोधित करते हुए कहा कि 2003, 2008 और 2013 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने पार्टी के रणनीतिकार की भूमिका निभाई। पर्यावरण के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित करने वाले स्वर्गीय दवे ने केंद्रीय मंत्री के तौर पर कम समय में भी अपनी अमिट छाप छोड़ी। मंदसौर गोलीकांड में मरने वाले आंदोलनकारी किसानों का स्मरण करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरा प्रदेश पीड़ितों के साथ है।
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, बहुजन समाज पार्टी विधायक दल के नेता एडवोकेट सत्यप्रकाश सखवार और कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने भी दिवंगतों को श्रद्धांजलि अर्पित की। दिवंगतों के सम्मान में दो मिनट के मौन के बाद सदन की कार्यवाही मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। मध्यप्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र आज ही से शुरु हुआ है। बारह दिवसीय यह सत्र 28 जुलाई तक प्रस्तावित है और इस दौरान कुल दस बैठकें होंगी।

No ratings yet.

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here