मुंबई हमला: PAK ने 8 साल में बदले 8 जज

0
66

लाहौर। मुंबई में 26 नवंबर 2008 हुए आतंकी हमले के मामले की सुनवाई कर रही विशेष पाकिस्तानी अदालत के न्यायाधीश का फिर तबादला कर दिया गया है और उनके स्थान पर नए न्यायाधीश की नियुक्ति की गई है। पिछले आठ साल में यह नौवां बदलाव है। आज अदालत के एक अधिकारी ने बताया कि हमले में शामिल होने के आरोप में 7 पाकिस्तानी संदिग्धों के खिलाफ सुनवाई कर रही आतंकवाद विरोधी अदालत (ATC) में हाल ही में एक बार फिर बदलाव किया गया है। उन्होंने कहा कि ATC न्यायाधीश सोहेल अकरम पिछले क़रीब 2 साल से 26/11 मामले की सुनवाई कर रहे थे। उनका तबादला पंजाब न्यायिक सेवा में कर दिया गया है।
2009 में इस केस की लाहौर स्थित एटीसी कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई थी। उन्होंने कहा कि अब इस मामले की सुनवाई कौसर अब्बास जैदी करेंगे। हालांकि, उन्होंने इसे रुटीन प्रोसेस बताया है। इस मामले में अकरम से पहले भी वही न्यायाधीश थे। इस केस में अब तक 9 बार जज बदले जा चुके हैं। इनमें सोहैल अकरम, कौसर अब्बास जैदी, अतीकुर रहमान, शाहिद रफीक, जस्टिस मलिक मोहम्मद अकरम अवान, परवेज अली शाह और जस्टिस राणा निसार अहमद शामिल रहे हैं। मुंबई में 2008 में हुए आतंकी हमले के सरगना जकीउर रहमान लखवी को दिसंबर 2014 में जमानत मिली थी। उस समय जैदी ही इस मामले में न्यायाधीश थे। मुंबई मामले में पाकिस्तानी ATC में उस समय से कोई सुनवाई नहीं हुई है, जब इस्लामाबाद ने नई दिल्ली से कहा था कि मामले में जल्दी फैसले के लिए उसे अपने 24 गवाहों को बयान दर्ज कराने के लिए भेजना होगा। भारत ने पाकिस्तान से इस केस की दोबारा जांच कराने के लिए कहा था। बता दें कि सईद को एंटी-टेररिज्म लॉ के तहत फिलहाल लाहौर में हाउस अरेस्ट करके रखा गया है। इस हमले में 166 लोग मारे गए थे। बेल मिलने के बाद से लखवी किसी अनजान जगह पर है। वहीं, बाकी छह सस्पेक्ट रावलपिंडी की अदियाला जेल में बंद हैं।

5/5 (2)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here