देशभर में अप्रैल 2020 से नहीं बिकेंगे बीएस-4 सेगमेंट के वाहन : सुप्रीम कोर्ट

0
29
BS-4 Vehicle Ban

राज एक्‍सप्रेस, नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने वाहनों की बिक्री को लेकर बड़ा फैसला किया है। सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश दिया है कि, 1 अप्रैल, 2020 के बाद देश में बीएस- 4 सेगमेंट का कोई भी वाहन न तो बेचा जाएगा न ही किसी बीएस-4 वाहन का रजिस्ट्रेशन होगा (BS-4 Vehicle Ban)। सुप्रीम कोर्ट का ये फैसला बहुत ही अहम है।

आपकों बता दें कि, इससे पहले पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने बीएस-3 वाहनों की बिक्री पर रोक लगा दी थी।

क्या होते हैं बीएस-4

बीएस-4 का मतलब होता है भारत स्टेज 4, जो एक उत्सर्जन मानक है। सरकार चाहती थी कि, ऑटो कंपनियों को पुराना स्टॉक बेचने के लिए 30 जून 2020 तक का समय मिले, लेकिन सुप्रीम कोर्ट की एमिकस क्यूरी अपराजिता सिंह इसके खिलाफ थीं। उन्होंने बिना बीएस-6 मानक वाले भारी वाहनों की बिक्री के लिए 30 सितंबर 2020 तक का समय देने के प्रस्ताव का भी विरोध किया।

सुप्रीम कोर्ट ने क्‍यों लिया यह फैसला : 
  • एक अप्रैल 2020 से बीएस-6 मानक लागू होंगे।
  • प्रदूषण कम करने के लिए यह फैसला लिया गया।
  • उच्च बीएस मानक वाले ईंधन में सल्फर कम होता है।
केंद्र-ऑटो कंपनियों की याचिका खारिज

जस्टिस मदन बी लोकुर, एस अब्दुल नजीर और दीपक गुप्ता की एक बेंच ने केंद्र सरकार और ऑटोमोबाइल कंपनियों की याचिका खारिज कर दी, जिसमें डेडलाइन से पहले बनाए गए वाहनों की बिक्री की अनुमति देने की मांग की गई थी। उन्होंने दलील दी थी कि, ऑटोमोबाइल कंपनियों को बीएस-4 वाहनों के स्टॉक को खत्म करने के लिए 31 मार्च, 2020 के बाद भी उनकी बिक्री की अनुमति दी जानी चाहिए।

कंपनियों ने मांगा था 6 महीने का ग्रेस पीरियड

कंपनियों ने भरोसा दिलाया था कि, वे डेडलाइन से पहले बीएस-4 वाहनों की बिक्री बंद कर देंगी, लेकिन उन्हें स्टॉक की बिक्री के लिए 6 महीने का ग्रेस पीरियड दिया जाना चाहिए। हालांकि, कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी और कहा कि, मैन्फैक्चयुरिंग के साथ ही बिक्री की भी अनुमति नहीं दी जाएगी।

5/5 (2)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image