नवरात्र के 7वें दिन इन मंदिरों में उमड़ा भक्‍तों का सैलाब, मैहर में 3 लाख श्रद्धालुओं ने किए दर्शन

0
34
Navaratri 7th Day

राजएक्‍सप्रेस। शारदीय नवरात्रि (7th day of Navaratri) में देश का कोना-कोना भक्त‍िमय हो जाता है। इन 9 दिनों में मां दुर्गा के नौ रूपों को पूजने का विधान है। इस दौरान भारत के अलग-अलग कोनों में फैले हुए मां के प्रसिद्ध मंदिरों में भारी संख्‍या में भक्‍तों का जमावाड़ा लगता है। इसी मौके पर नवरात्र के 7वें दिन मंगलवार को भारी संख्‍या में इन मंदिरों पर भक्‍तों का सैलाब उमड़ा।

मैहर में 3 लाख श्रद्धालुओं ने किए देवी के दर्शन

मध्यप्रदेश के मैहर में तीन लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने मैहर की हरी भरी पहाड़ी पर विराजमान और 52 शक्तिपीठों में प्रमुख देवी मां शारदा के दर्शन किए। यह बात अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व मैहर मेला प्रभारी गौतम सोलंकी ने बताया हैं, उन्होंने यह भी बताया कि, मेला शांतिपूर्वक चल रहा है। सभी श्रद्धालुओं को कतारबद्ध दर्शन कराया जा रहा है।

एक लाख श्रद्धालु जुटे

इसके साथ ही सीहोर जिले के रेहटी क्षेत्र में मां विजयासन धाम शक्तिपीठ सलकनपुर में भी सप्तमी को माता के भक्तों का तांता लगा हुआ था। मंगलवार को एक लाख से अधिक श्रद्धालुओं में मां के चरणों में मत्था टेका। रात्रि 3 बजे से ही माता के दरबार में सीढ़ी मार्ग, रोप-वे मार्ग और वाहन पहुंच मार्ग से श्रद्धालु मंदिर पहुंच रहे थे। यह क्रम रात्रि 12 बजे तक चलता रहा। सप्तमी को रविवार के बाद सबसे अधिक भीड़ देखी गई। मां विजयासन धाम सलकनपुर में सप्तमी की रात्रि और अष्टमी के लगते ही मंगलवार को रात्रि 12 बजे से महानिशा पूजा माता के दरबार में संपन्न हुई। जिसमें पूरी रात चली महानिशा पूजा हवन में हजारो लोगों ने भाग लिया।

आज मनाई जाएगी अष्टमी

माता के दरबार में आज बुधवार को अष्टमी मनाई जाएगी। यह पहला मौका है कि, इस वर्ष शारदीय नवरात्र में 8 दिन में अष्टमी पड़ रही है। जबकि पहले कभी 07 दिन में भी तिथि आगे पीछे हो जाती थीं।

चढ़ाई 1250 मीटर चुनरी

धार में भोजशाला की मुक्ति और उसके गौरव की पुर्नस्थापना हेतु संकल्पित भोज उत्सव समिति एवं हिन्दू जागरण मंच द्वारा नव दुर्गा उत्सव पर्व में सप्तमी तिथि को 1250 मीटर समरसता चुनरी यात्रा का आयोजन किया गया। लंगड़ी माता मंदिर जेतपुरा से माता का पूजन-अर्चन कर चुनरी यात्रा को प्रारंभ किया गया। यात्रा का पूजन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत समरसता प्रमुख प्रमोद झा भाई साहब एवं सांसद सावित्री ठाकुर द्वारा किया गया। यह चुनरी यात्रा नगर के प्रमुख मार्गों से होती हुई भोजशाला पहुंची।

श्योपुर में निकली चुनरी यात्रा

नवरात्र के 7वें दिन इन मंदिरों में उमड़ा भक्‍तों का सैलाब, मैहर में 3 लाख श्रद्धालुओं ने किए दर्शन श्योपुर में कराहल स्थित मां कात्यायनी माता मंदिर से हजारों की संख्या में भक्तों ने एकत्रित होकर पनवाड़ा स्थित मां अन्नपूर्णा देवी के दरबार में 1500 मीटर की चुनरी यात्रा का आयोजन कर चढ़ाई गई, जिसमे अंचल के सभी समाज के भक्तजनों व क्षेत्रिय राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों ने भी अपनी भागीदार की। चुनरी चढ़ाने के उपरांत भक्तों द्वारा कन्या भोजन भंडारे का आयोजन भी किया गया। मां अन्नपूर्णा देवी के दरबार सच्चा दरबार माना जाता है। यहां भक्तों की मुरादें पूरी होती है। मां अन्नपूर्णा देवी सबकी झोली भरती है। यहां प्रतिवर्ष चैत्र माह मे मेले का आयोजन होता है यहां मध्‍यप्रदेश के अलावा अन्य प्रांतो के भक्तों की भीड़ लगी रहती है।

अभी नवरात्रि मे नौ दिन माता के जागरण, अनुष्ठान पूजा-पाठ का आयोजन चलता रहता है साथ ही कराहल से 3 किलोमीटर की दूरी मे भक्तों का तांता लगा रहता है, अन्नपूर्णा माता के दर्शनों को कोई नंगे पैर जाता है तो कोई कनक दण्डवत करके जाता है। माता का दरवार सच्चा दरबार माना जाता है, यहां सन्तानहीनो को सन्तान प्राप्ति होती है साथ ही सबकी मनोकामनाएं भी पूरी होती है। शारदीय एवं चैत्र नवरात्रि मे माता मंदिर मे भक्तो की कतारें लगी रहती है चैत्र नवरात्रि मे यहां मेले का आयोजन होता है मेला सप्तमी से प्रारम्भ होकर बारस तक लगता है

मां अन्नपूर्णा को चढाई 1500 मीटर की चुनरी

माँ के भक्तों का रेला माँ अन्नपूर्णा की 1500 मीटर की लंबी चुनरिया के साथ कराहल के प्रमुख मार्गों से निकला तो एक छोर कराहल के ब्राह्मण मोहल्ले में तो दूसरा छोर करियादेह तिरहया पर था। श्रद्धालुओं की टोली डीजे पर माँ के भक्त के बीच नाचते गाते चल रहे थे, वहीं महिलाओं की टोली भी थिरकते हुए चल रही थी। माँ अन्नपूर्णा के भक्त लगातार 5 किमी नाचते थिरकते हुए पहुचे।

शारदीय नवरात्र में 8000 हजार भक्तों ने माँ कत्यानी मंदिर से सुबह 10 बजे माँ के जयकारो के साथ नाचते गाते लोगों ने माँ की चुनरियां का दामन थामा। जो, 2 बजे पनवाडा में 5 किमी का सफर तय कर चुनरियां माँ अन्नपूर्णा को चढ़ाई। कराहल पुलिस ने यात्रा के समय सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए। कार्यक्रम में जिले के बीजेपी के नेता भी शामिल रहे। धार्मिक कार्य मे शामिल होकर ही करते है।

सिंगरौली में गूंजे माता के जयकारे

सिंगरौली में नवरात्रि महोत्सव में मंगलवार दोपहर केशव नगर स्थित मां दुर्गा पंडाल के भक्त मंडल की निकाली नवरात्र के 7वें दिन इन मंदिरों में उमड़ा भक्‍तों का सैलाब, मैहर में 3 लाख श्रद्धालुओं ने किए दर्शनचुनरी यात्रा के दौरान बैढन शहर में माता की भक्ति के रंग बिखरे। केशव नगर में गोविंद पथ मार्ग में इन दिनों दुर्गा जी विराजी है जिनकी छटा देखते ही बन रही है। जगह -जगह चुनरी यात्रा का शहर वासियों ने स्वागत किया। दोपहर 2 बजे यह यात्रा शुरू हुई जो मां के दरबार मे 4 बजे पूरी हुई। यहां मातारानी की पूजा करके यह 500 मीटर की चुनरी चढ़ाकर महा आरती उतारी गई।

बीते कई सालों से डॉ. डीडी मिश्रा व गोविंद पांडेय के अगुवाई में केशव नगर वासियों की तरफ से चुनरी यात्रा निकाली जाती रही है,जिसमें दूर-दूर से लोग शिरकत करते है और यह यात्रा मध्यप्रदेश में दूसरी सबसे बड़ी चुनरी यात्रा का रिकॉर्ड भी बना चुकी है। इससे पहले आज यह चुनरी यात्रा डीजे, गाज- बाजे और माँ के जयकारों से शुरु हुई।

5/5 (2)

Please rate this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enter Captcha Here : *

Reload Image